• Hindi News
  • National
  • पहले एनएसयूआई ने पुलिस को छकाया, फिर पुतला जलाया

पहले एनएसयूआई ने पुलिस को छकाया, फिर पुतला जलाया

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
छात्र संघ चुनाव की मांग को लेकर एनएसयूआई का प्रदर्शन

दमोह| छात्र संघ चुनाव की प्रत्यक्ष प्रणाली की मांग को लेकर शनिवार को एनएसयूआई ने अंबेडकर चौक पर मुख्यमंत्री का पुतला जलाया। जमकर नारेबाजी करते हुए करीब आधा घंटे तक चौराहे पर प्रदर्शन किया। लेकिन इस बीच पुलिस का एक भी जवान मौके पर नहीं पहुंचा। यहां तक चौराहे पर डयूटी करने वाला ट्रैफिक पुलिस कर्मी भी गायब था। पुतला दहन होने के करीब एक घंटे बाद वाट्सएप पर मैसेज देखकर सीएसपी आर राजन मौके पर पहुंचे और जायजा लेते हुए मीडिया के सामने यह कहकर चले गए कि मुझे कोई जानकारी ही नहीं थी।

खासबात यह है कि पुतला दहन के पूर्व एनएसयूआई के पदाधिकारियों कार्यकर्ताओं ने शहर के पीजी कॉलेज, केएन कॉलेज, विजयलाल कॉलेज, टाइम्स कॉलेज आदि में जाकर नारेबाजी की और हंगामा किया। इस दौरान पुलिस के जवान साथ साथ रहे। लेकिन पुतला दहन के दौरान एक भी पुलिस कर्मी मौके पर नहीं पहुंचा। दरअसल छात्र संघ चुनाव की प्रत्यक्ष प्रणाली की मांग को लेकर प्रदेशाध्यक्ष विपिन वानखेडे के आव्हान प्रदेष के समस्त जिले में ज्ञापन सौंपा गया एवं कॉलेजों को बंद कराया गया। इसी तारतम्य जिले के सभी ब्लाकों में सहित शहर में प्रदर्शन किया गया और मुख्यमंत्री का पुतला जलाया गया।

इस मौके पर पदाधिकारियों ने कहा कि छात्र संघ चुनाव पर भाजपा सरकार द्वारा पिछले 6 सालों से रोक लगाई गई है जिससे छात्र नेतृत्वको दबाने का कार्य सरकार कर रही है। छात्र संघ चुनाव प्रत्यक्ष प्रणाली छात्र छात्राओं की जायज मांग है इसे पूरा किया जाना चाहिए। इस दौरान जिलाध्यक्ष रोबी चौरसिया, शुभम तिवारी, विक्रम बौद्ध, संदीप, पराग, राजा, ऋषभ, अमित, राजीव, साेमू, युवराज, मोहनी, सुषमा, जमुना, जुबेर, शिवराज, हरिकृष्ण मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...