• Hindi News
  • कम पढ़ा लिखा दूल्हा होने पर दुल्हन ने बिदा होने से किया इंकार, लौटी बारात

कम पढ़ा लिखा दूल्हा होने पर दुल्हन ने बिदा होने से किया इंकार, लौटी बारात

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
हिंडोरिया थाना क्षेत्र के कूडा़ कूड़न गांव का मामला, बाराती बोले लड़का पांचवीं पढ़ा है

भास्कर संवाददाता| दमोह

विवाह की समस्त रस्में पूरी होने के बाद जब लड़की को पता चला कि दूल्हा कम पढ़ा लिखा है तो उसने बिदा होने से इंकार कर दिया। लड़की पक्ष के लोगों का यह भी आरोप था कि जो लड़का उन्होंने देखा था, वह दूल्हा नहीं है, कोई दूसरे को दूल्हा बनाकर लाया गया है। विवाद के चलते रविवार को दूल्हा सहित बराती एसपी आॅफिस पहुंच गए। मामला हिंडोरिया थाना क्षेत्र के कूड़ा कूड़न गांव का है। दरअसल 13 फरवरी को भिंड जिले के जमसारा तहसील के ग्राम खैरी से बारात आई थी। लड़की पक्ष के लोगों ने बारातियों का स्वागत सत्कार किया, खाना खिलाया। हिंदू रीति रिवाज के अनुसार समस्त वैवाहिक रस्में पूरी कराई गई, लेकिन जब बिदाई का वक्त आया तो लड़की को भेजने से मना कर दिया।

एसपी कार्यालय पहुंचे दूल्हा मेहताब पिता उदयवीर कुशवाहा ने बताया कि उनकी शादी बांदकपुर के पास कूड़ा गांव में कपूरे पटेल की बेटी मीराबाई के साथ पक्की हुई थी, करीब 40 बारातियों को लेकर वे शनिवार दमोह आए थे और दोपहर करीब 2 बजे वे कूड़ा गांव पहुंचे थे, दिन की शादी होने के कारण सभी रस्में शाम तक पूरी हो गई थीं। शाम छह बजे के करीब जब बिदाई का समय आया तो लड़की के परिजनों ने यह कहकर मना कर दिया कि रात हो गई है कल विदाई होगी। रविवार की सुबह करीब 6 बजे जब बिदाई करने कहा गया तो लड़की के मामा-मामी और मौसा मौसी के कहने पर उनके द्वारा चढ़ाए गए जेवर रखकर लड़की ने साथ जाने से मना कर दिया। दूल्हे के पिता उदयवीर सिंह ने बताया कि वे कल दोपहर में बारात लेकर आ गए थे लड़की ने भी लड़के को देख लिया था उसके रिश्तेदारों ने भी लड़के को देखा था, यदि शादी से इंकार करना था तो फेरे भांवर की रस्में पूरी क्यों, कराई पहले ही मना कर देते। लेकिन फेरे होने के बाद बिदा नहीं की इससे उनकी बेइज्जती हुई है। उनका जेवर भी नहीं लौटा रहे हैं। उन्होंने इसकी शिकायत बांदकपुर पुलिस चौकी में की थी, लेकिन पुलिस ने कोई सुनवाई नहीं की तो एसपी कार्यालय आए। जिला कुशवाहा समाज संगठन के जिला सचिव ने बताया कि उन्होंने सामाजिक स्तर पर भी मामला सुलझाने का प्रयास किया है। पुलिस को भी सूचना दी है। दोनों पक्षों को समझाने का प्रयास किया जा रहा है।

जो लड़का दिखाया था वह दूल्हा नहीं है
एएसपी अरविंद दुबे का कहना है कि भिंड जिले के खैरी गांव से बांदकपुर के पास कूड़ा गांव में कुशवाहा समाज की बारात आई थी उनके पास दूल्हा सहित बारातियों ने शिकायत की है कि लड़की की बिदा फेरे होने के बाद नहीं की गई है। इसमें बारातियों के बताए अनुसार लड़का पांचवीं तक पढ़ा है और ड्राइवर है इसलिए बिदा नहीं की। लड़की पक्ष का आरोप है कि जो लड़का दिखाया था, वह दूल्हा नहीं है, लड़की इच्छा जाने की नहीं है, उसने अपने विवेक से निर्णय लिया है। इसलिए बारात वापस लौटा दी गई है।

दमोह। एएसपी को जानकारी देते बाराती।