• Hindi News
  • National
  • जीवन एक प्रयोगशाला की तरह रोज कुछ नया सीखने की जरूरत

जीवन एक प्रयोगशाला की तरह रोज कुछ नया सीखने की जरूरत

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
वक्ताओं ने युवाओं से आव्हान किया, गांधी के विचारों को जीवन में उतारें

भास्कर संवाददाता | दतिया

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि के अवसर पर जिले भर में जगह जगह कार्यक्रम आयोजित किए गए। शासकीय पीजी कॉलेज की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई ने गांधीजी की पुण्यतिथि को मद्य निषेध संकल्प दिवस के रूप में मनाया। इस अवसर पर महाविद्यालय में विचार गोष्ठी, वाद-विवाद, नारालेखन आदि प्रतियोगिताएं आयोजित की गई।

विचार गोष्ठी में प्रभारी प्राचार्य डॉ. किशोर अरोरा ने बताया कि जीवन एक प्रयोगशाला है। हमें प्रतिदिन कुछ नया सीखना चाहिए। डॉ. प्रतिभा पांडेय ने महात्मा गांधी जी के सिद्धांतों को अपने जीवन में उतार कर आगे बढ़ने की आवश्यकता पर बल दिया। डॉ. रिपुदमन ने अब तो सुधर जाओ गीत के माध्यम से विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन रासेयो कार्यक्रम अधिकारी डॉ. एसआर लाहौरिया तथा आभार डॉ. केएस दादौरिया ने व्यक्त किया। इस अवसर पर वाद-विवाद प्रतियोगिता में पक्ष से मलखान सिंह केवट को प्रथम, ख्याली मांझी को द्वितीय, लोकेंद्र अहिरवार को तृतीय तथा विपक्ष से प्रियंका गुप्ता को प्रथम, विक्रम द्विवेदी को द्वितीय तथा कंचन यादव को तृतीय स्थान मिलने पर सम्मानित किया गया। नारा लेखन में मलखान सिंह केवट प्रथम, ख्याली मांझी द्वितीय तथा कंचन यादव को तृतीय स्थान मिला।

नशा मुक्ति की ली शपथ: सामाजिक न्याय विभाग दतिया ने मद्य निषेध दिवस गांधी पार्क में मनाया। यहां कुमकुम रावत मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहीं। अध्यक्षता खेल समन्वयक संजय रावत ने की। इस अवसर पर डॉ अरविंद शर्मा, डॉ राज गोस्वामी भी विशेष रूप से मौजूद रहे। इस अवसर पर सभी ने नशा मुक्ति की शपथ ली।

अहिंसा की ताकत से शस्त्रों को झुकाया
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी भारत के स्वाभिमान थे। गांधीजी दुनिया में इंसान और इंसानियत की मिसाल थे। उन्होंने सत्य की ताकत से शस्त्रों को झुका दिया। यह बात कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष मुरारी लाल गुप्ता ने अपने निवास पर गांधीजी की पुण्यतिथि पर आयोजित कार्यक्रम में कही। कार्यक्रम में खुमान सिंह बेचैन , विष्णु गुर्जर, बीएल कैन, नरेंद्र गुर्जर, रामदास उत्साही उपस्थित थे। जिला कांग्रेस कार्यालय पर भी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि मनाई गई। कार्यक्रम में पूर्व विधायक घनश्याम सिंह ने कहा कि सत्य, अहिंसा एवं सत्याग्रह जैसे शस्त्रों को अपनाकर गांधीजी ने विश्व में न केवल शांति का पाठ पढ़ाया।

नशे से सामाजिक प्रतिष्ठा बर्बाद हो जाती है
भाजपा जिलाध्यक्ष विक्रम सिंह बुंदेला ने कहा कि लोग प्रेम, खेल, सामाजिक, जनहित कार्यों का नशा करें तो समाज में उनकी प्रतिष्ठा बनती है। जबकि अन्य पदार्थों के नशा से उनकी प्रतिष्ठा खराब होती है। यह बात उन्होंने ट्रूविनल वेलफेयर सोसायटी द्वारा मद्य निषेध दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में कही। यह कार्यक्रम गामा अखाड़े पर आयोजित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला पंचायत उपाध्यक्ष विनय यादव ने की। इस अवसर पर एसीईओ धनंजय मिश्रा, अतुल भूरे चौधरी, भरत राजौरिया, संजय रावत, रामजी यादव सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

सत्याग्रह से अत्याचार के प्रतिकार के अग्रणी नेता थे
युवा कुशवाह महासभा ने भी गांधीजी की पुण्यतिथि मनाई। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित भाजपा जिला उपाध्यक्ष कालीचरण कुशवाह ने कहा कि वे सत्याग्रह के माध्यम से अत्याचार के प्रतिकार के अग्रणी नेता थे। युवाओं उनके जीवन से प्रेरणा लें। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रेमनारायण कुशवाह ने की। इस अवसर पर रघुवीर प्रताप सिंह, सनी कुशवाह, बालकृष्ण कुशवाह, देवेंद्र कुशवाह सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

गांधीजी की पुण्यतिथि पर पुष्प अर्पित करते कांग्रेस नेता।

खबरें और भी हैं...