पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • ब्रिटेन के सभी स्कूलों को मेंटल हेल्थ में ट्रेंड स्टाफ रखना होगा; बच्चों की ऑनलाइन सुरक्षा के लिए

ब्रिटेन के सभी स्कूलों को मेंटल हेल्थ में ट्रेंड स्टाफ रखना होगा; बच्चों की ऑनलाइन सुरक्षा के लिए सरकार ने लिया फैसला

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ब्रिटेन के सभी स्कूलों में नए सत्र से अपने स्टाफ में ऐसे लोग रखने होंगे जो बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य में एक्सपर्ट हों या मौजूदा स्टाफ को इसके लिए ट्रेंड करना होगा। ये पहल पीएम थेरेसा में के उस वादे को अमल में लाने के लिए की गई है जिसमें उन्होंने कहा था कि वो 1983 में बने मेंटल हेल्थ कानून को प्रमुखता से लागू करवाएंगी।

इसकी शुरुआत देशभर के स्कूलों से होगी। अगला कदम होगा वर्कप्लेस पर समान व्यवहार। दरअसल ब्रिटेन के स्कूलों और वर्कप्लेस पर बच्चों और कर्मचारियों में अवसाद और चिंता से घिरे रहने के मामले ज्यादा आ रहे हैं। वहीं स्कूलों में हिंसक घटनाएं भी बढ़ी हैं। ऐसी घटनाओं पर रोक लगाने के लिए ये योजना अमल में लाई जा रही है। पीएम बनने पर थेरेसा मे ने ब्रिटिश जनता से वादा किया था कि वो देश के लोगों के मानसिक स्वास्थ्य के लिए बड़े स्तर पर काम करेंगी।

स्कूलों में मेंटल ट्रेनिंग के दौरान बच्चों को मानसिक स्वास्थ्य अच्छा रखने के बारे में सिखाया जाएगा। खासकर ऑनलाइन सुरक्षा और सायबर वर्ल्ड में धमकियों को लेकर उन्हें सजगता बरतने के बारे में बताया जाएगा। पीएम थेरेसा मे का मानना है कि मानसिक सुरक्षा से जुड़े कानूनों को वर्तमान में गलत अर्थ में लिया जा रहा है। कई बार इस वजह से कमजोर लोगों को अनावश्यक रूप से हिरासत में रखा जाता है। ऐसे मामलों में कमी आएगी।

प्रोग्राम की घोषणा करते वक्त पीएम ने कहा हम देश के सारे स्कूलों में मेंटल हेल्थ सपोर्ट लागू करने जा रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित करें कि वर्कप्लेस पर मेंटल हेल्थ को गंभीरता से लिया जाए। इसके लिए 2020 तक की डेडलाइन तय की गई है।

थेरेसा के मुताबिक ये सुधार उनके आदर्श समाज की योजना के महत्वपूर्ण हिस्से हैं जो सिर्फ कमजोरों की मदद नहीं करेंगे बल्कि ये भी बताएंगे कि स्थिर और मजबूत नेतृत्व का प्रभाव कितना कारगर होता है।

2020 तक 10 हजार मेंटल हेल्थ प्रोफेशनल को एनएचएस में शामिल करना

कार्यकाल खत्म होने से पहले पर्याप्त फंड जुटाकर मददगार लोगों की हेल्पलाइन बनाना

1983 में बने कानून को प्रमुखता से लागू करवाना और कमजोर प्रावधानों में बदलाव

देशभर के स्कूलों में मेंटल हेल्थ ट्रेनिंग अनिवार्य रूप से लागू करवाना

मानसिक स्वास्थ्य के लिए पीएम ने ये सुधार किए हैं प्रस्तावित
भास्कर ख़ास
खबरें और भी हैं...