पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • क्या इस तरह गढ़े जाएंगे देश के भावी नेता?

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

क्या इस तरह गढ़े जाएंगे देश के भावी नेता?

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
छात्र नेताओं और प्रत्याशियों के पोस्टरों ने राष्ट्रीय राजधानी को अपने आगोश में ले लिया था। दिल्ली छात्र संघ के चुनाव हो रहे थे। चूंकि ये चुनाव भविष्य के नेताओं के लिए आधार तैयार करने वाले माने जाते हैं, इसलिए इनका बड़ा महत्व है। आज आधे से ज्यादा सांसदों की पृष्ठभूमि युवा राजनीति की है और छात्र संघों के कई अध्यक्ष राष्ट्रीय नेता बने हैं। हालांकि, इतनी महत्वपूर्ण संस्था होने के बावजूद हमने इसकी कार्यप्रणाली और संस्कृति की पूरी तरह उपेक्षा की है।

आज छात्र संघों के चुनाव में राजनीतिक दल कूद पड़ते हैं और अपने साथ वे सारी खामियां लेकर आते हैं, जो वे चुनावों में इस्तेमाल करते रहे हैं। इस तरह वे युवा नेताओं के व्यवहार को भी भ्रष्ट कर देते हैं। इस्तेमाल किए पोस्टर व होर्डिंग सरकार द्वारा तय की गई 5 हजार रुपए की सीमा को पार कर जाएंगे। संभावना तो यही है कि यह खर्च लाखों में निकले। इस जरूरत से ज्यादा खर्च से युवा नेता के सामने दो बातें स्पष्ट होती हैं। एक, सरकार द्वारा तय किए सीमा का उल्लंघन करने में कोई हर्ज नहीं है। दो, चुनाव लड़ने के लिए ढेर सारा पैसा लगता है। शुरुआत में ही इस तरह की धारणा से यह तय हो जाता है कि राजनीति में कौन आएगा और राजनेता के रूप में वे कैसे काम करेंगे। पैसे को लेकर चिंताएं तब गौण हो जाती है जब हम देखते हैं कि किस तरह के नेता तैयार हो रहे हैं। एनएसयूआई के एक अध्यक्ष ने मुझे एक बार बड़े गर्व से कहा था कि कॉलेज में हिंसक रैली निकालने के कारण उसे कई दिनों तक जेल में रखा गया था। जेल में गुजारे वक्त के बारे में वह ऐसे बात कर रहा था जैसे पार्टी के एजेंडे को मुखरता से उठाने के लिए उसे कोई सम्मान दिया गया हो। कॉलेज का वक्त बौद्धिक विकास और सीखने का होता है। हम उम्मीद करते हैं कि हमारे भविष्य के नेता संविधान का अध्ययन करेंगे और शासन अौर हमारे राजनीतिक इतिहास के बारे में सीखेंगे। लेकिन यदि राजनीतिक दल कॉलेज में आएंगे और छात्रों को चुनाव के गलत हथकंडे सिखाएंगे, तो अगली पीढ़ी के नेताओं को ‘सही तरीके’ से सफलतापूर्वक गढ़ना मुश्किल हो जाएगा।

ऋत्विका भट्‌टाचार्य, 28 सीईओ, स्वानीति इनिशिएटिव, फोर्ब्स की युवा आंत्रप्रेन्योर सूची में शामिल रही हैं।

linkedin.com/in/rwitwika-bhattacharya-8b08158

अंडर -
करंट अफेयर्स पर 30 से कम उम्र के युवाओं की सोच

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

    और पढ़ें