• Hindi News
  • अब तक 11 करोड़ पुस्तिकाएं भेजी जा चुकी हैं अयोध्या

अब तक 11 करोड़ पुस्तिकाएं भेजी जा चुकी हैं अयोध्या

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नगर के रघुनाथसिंह रघुवंशी अब तक 11 करोड़ पुस्तिकाएं अयोध्या भेज चुके हैं। उन्होंने करीब बीस साल पहले रामजन्म भूमि अयोध्या के संत महामंडलेश्वर नित्य गोपालदास की प्रेरणा से नगर में श्रीराम नाम बैंक की स्थापना की थी। बैंक के माध्यम से नागरिकों को नि:शुल्क राम नाम लिखने पुस्तिकाएं दी जाती है। पुस्तिका भर जाने के बाद उसे जमा किया जाता है।

जमा पुस्तिकाओं को हर साल बसंत पंचमी पर ट्रेन से अयोध्या भेजकर जमा कराया जाता है। श्री रघुवंशी ने बताया कि बैंक का उद्देश्य राम नाम का प्रचार प्रसार कर लोगों को ईश्वर भक्ति से जोडऩा है। बैक के हजारों सदस्य है। शहर से लेकर गांव तक यह कार्य चल रहा है। इसके पीछे यह भी उद्देश्य है कि लोग यदि काम काज से फुर्सत में हो तो उनका ध्यान इधर- उधर भटकने से रोककर ईश्वर की ओर खींचा जाए। बैक से प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में पुस्तकें दी जाती है। इस बैंक के माध्यम से कुरवाई, सिरोंज, लटेरी, त्योंदा, पठारी, नटेरन आदि में भी पुस्तिकाएं निरंतर भेजी जा रही हैं।

इस बार बसंत पंचमी पर करीब दो लाख से ज्यादा पुस्तकें नई जारी की गई है। साल भर में जो पुस्तिकाएं जमा हुई है उन्हें लेकर लालाराम रघुवंशी, धर्मेंद्र साहू पूजन आरती के बाद रवाना हो गए हैं।

राम नाम लिखकर पुस्तिकाएं भेजी।