• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Garoth
  • श्रीकृष्ण का ही स्वरूप है श्रीमद भागवत, यह सिर्फ महाग्रंथ नहीं
--Advertisement--

श्रीकृष्ण का ही स्वरूप है श्रीमद भागवत, यह सिर्फ महाग्रंथ नहीं

Dainik Bhaskar

Jan 07, 2018, 10:05 AM IST

Garoth News - श्रीमद् भागवत एक महाग्रंथ नहीं वास्तव में भगवान श्रीकृष्ण का स्वरूप है। इसमें राजनीति, कुटनीति हो या अन्य कोई...

श्रीकृष्ण का ही स्वरूप है श्रीमद भागवत, यह सिर्फ महाग्रंथ नहीं
श्रीमद् भागवत एक महाग्रंथ नहीं वास्तव में भगवान श्रीकृष्ण का स्वरूप है। इसमें राजनीति, कुटनीति हो या अन्य कोई नीति सबकुछ समायोजित है। इसका सत्संग एक ऐसी औषधि है जो मनुष्य को भवसागर से पार करती है। यह बात नगर के मेला ग्राउंड पर आयोजित सात दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा के दूसरे दिन शनिवार को भागवताचार्य अमन बैरागी ने कही।

उन्होंने कहा कि संत की दृष्टि सदैव श्रेष्ठ होती है, जो गलत कार्य में भी अच्छाई को देखती है। जो ऐसा करता है वही सही मायने में संत होता है। अच्छाई का प्रचार इतना अधिक हो कि बुराई उसके आगे छोटी पड़ जाए। श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ है जो इसमें जो जितनी आहुति देगा, उतना उसका पुण्य प्रताप बढ़ेगा। वास्तव में आत्मा परमात्मा के लिए है लेकिन हमें संसार रूपी बंधन आत्मा सदैव परमात्मा से मिलने को रोकती है। इसी को संसार की मोह-माया कहा जाता है। शनिवार को श्रीमद् भागवतजी का पूजन-आरती पोरवाल समाज गरोठ के अध्यक्ष राधेश्याम सेठिया, खाती मालवीय समाज गरोठ के अध्यक्ष दिनेश पहलवान, राजेश चौधरी, कचरूलाल मगर, कैलाश गुप्ता, राजेश सेठिया, श्याम मालवीय, सत्यनारायण मालवीय, रामगोपाल गुप्ता, दौलतराम मांदलिया ने महाआरती की। आयोजन समिति अध्यक्ष जगदीश अग्रवाल, संरक्षक दिनेश पाटीदार, संजय सोनी, बंटी वैष्णव, रामगोपाल पाटीदार, रमेश सेनपुरिया सहित भक्त मौजूद थे।

मंदसौर | रामकथा के शुभारंभ पर शनिवार को तलईवाले बालाजी मंदिर से दोपहर 12.15 बजे कलश यात्रा निकाली। विधायक यशपालसिंह सिसौदिया, जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष मदनलाल राठौर विशेष रूप से शामिल हुए। यात्रा में बड़ी संख्या में महिलाएं सिर पर कलश लिए चली। यात्रा गांधी चौराहा, बस स्टैंड, कालाखेत होती हुई आयोजन स्थल माहेश्वरी धर्मशाला पहुंची। यहां रामानुज महाराज ने वाचन किया। नरेंद्र अग्रवाल, नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार, सुरेश सोमानी मौजूद थे। संचालन ब्रजेश जोशी ने किया। आभार जयप्रकाश बटवाल ने माना।

नगर के मेला ग्राउंड पर सात दिनी श्रीमद् भागवत कथा का श्रवण करते और भजनों पर झूमते भक्तगण।

भागवत कथा का विश्राम

मंदसौर | श्री सुयश रामायण मंडल जनता काॅलोनी द्वारा संजय गांधी उद्यान में आयोजित भागवत कथा का विश्राम हुआ। दशरथ भाईजी व सदस्याें ने मंजूलता दीदी का सम्मान किया। नाहरू भाई जनरेटर ने कथा आयोजन के लिए 21 हजार रुपए देने की घोषणा की। अंतिम दिन मंजूलता दीदी ने भगवान कृष्ण व सुदामा की मित्रता का वृत्तांत सुनाया। शनिवार को पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष मानसिंह माच्छोपुरिया, जिला सहकारी बैंक सीईओ भोपालसिंह सिसौदिया ने पूजन किया।

रामकथा के शुभारंभ पर तलईवाले बालाजी मंदिर से निकाली यात्रा

X
श्रीकृष्ण का ही स्वरूप है श्रीमद भागवत, यह सिर्फ महाग्रंथ नहीं
Astrology

Recommended

Click to listen..