पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • ‌Rs.57 लाख की लागत से 10 माह में बनकर तैयार हो जाएगी नपा की नवीन बिल्डिंग

‌Rs.57 लाख की लागत से 10 माह में बनकर तैयार हो जाएगी नपा की नवीन बिल्डिंग

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नगर पालिका परिसर में खाली पड़ी जगह में 57 लाख रुपए की लागत से नपा की नवीन बिल्डिंग बनाए जाने का कुछ दिन पहले शुरू हो चुका है। सबकुछ ठीक रहा तो 10 महीने के भीतर यह बिल्डिंग बनकर तैयार हो जाएगी। जिससे नपा कर्मचारियों और यहां अपने कामकाज के लिए आने-जाने वाले लोगों को मूलभूत सुविधाओं के लिए भटकना नहीं पड़ेगा।

नगर पालिका की पुरानी बिल्डिंग में पर्याप्त जगह न हाेने के कारण नपं में कार्य करने वाले कर्मचारियों और यहां आने वाले लोगों को आए दिन परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था, लेकिन नपा की नवीन बिल्डिंग का निर्माण कार्य होते ही यह परेशानियां काफी हद तक दूर हो जाएंगी। नपा अध्यक्ष भीकम कौंशल ने बताया कि नगर पालिका की नवीन बिल्डिंग का निर्माण कराए जाने को लेकर पहले ही शासन को प्रस्ताव बनाकर भेजा जा चुका था, जिसके बाद जैसे ही निर्माण कराए जाने की स्वीकृति मिली वैसे ही बिना देर किए टेंडर प्रक्रिया पूर्ण कर इसका निर्माण कार्य शुरू करा दिया गया। नपा परिसर की नवीन बिल्डिंग में अपने कामकाज के लिए आने-जाने वाले एवं दफ्तर में कामकाज करने वाले कर्मचारियों पर नजर रखने के लिए सीसीटीवी कैमरे लगवाए जाएंगे। साथ ही यहां अपने कामकाज के लिए आने वाले लोगों को मूलभूत सुविधाओं के लिए इधर-उधर भटकना न पड़े। इसका भी विशेष ख्याल रखा जाएगा। इस संबंध में नपा गोहद सीएमओ सुरेंद्र शर्मा का कहना है कि नवीन बिल्डिंग के निर्माण कार्य में गुणवत्तायुक्त सामग्री का उपयोग हो। इसको लेकर देखरेख की जाएगी।

नपा परिसर की नए भवन का निर्माण होता हुआ।

लोगों को मिलेंगी सुविधाएं
नपा की अाधुनिक बिल्डिंग में आम लोगों की सुविधा का विशेष ध्यान रखा गया है। बैठने के लिए स्वागत कक्ष बनाए जाएंगे। प्रत्येक पटल के लिए अलग-अलग कमरे बनाए जाएंगे ताकि नगर वासियों को काम कराने में इधर-उधर न भागना पड़े। एक बड़ा मीटिंग हाॅल का निर्माण होगा, जिसमें आधुनिक उपकरण लगाए जाएंगे। वर्तमान समय में यहां अपने कार्य कराने के लिए आने वाले लोगों को मूलभूत सुविधाओं के लिए परेशान होना पड़ता है, लेकिन नवन बिल्डिंग बन जाने के बाद यह सब परेशानियां काफी हद तक कम हो जाएंगी।

खबरें और भी हैं...