पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • अटक सकती हैं परीक्षाएं

अटक सकती हैं परीक्षाएं

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
वर्तमान में नगर पालिका और बाद में पंचायत चुनाव की आचार संहिता के चलते सकती हैं समस्याएं

कार्यालयसंवाददाता|गुना

नगरपालिका और पंचायत चुनाव के कारण कई अहम परीक्षाओं को टालना पड़ सकता है। इनमें संविदा शिक्षक भर्ती परीक्षा सबसे अहम होगी, जो दिसंबर में प्रस्तावित है। इसके अलावा कॉलेज में लंबे समय बाद सही वक्त पर होने जा रही सेमेस्टर परीक्षाओं के टलने की संभावना है।

संविदा शिक्षकों की भर्ती के लिए व्यापमं द्वारा हाल ही में 21 दिसंबर को पात्रता परीक्षा कराए जाने की घोषणा की थी। सबसे पहले वर्ग एक के पदों के लिए परीक्षा होना थी। हालांकि परीक्षा का तो कार्यक्रम सामने आया, रिक्त पदों की सूची जारी हुई और ही विज्ञापन ही जारी हुआ है। अब नगरीय निकाय चुनावों की आचार संहिता लग गई है, तो जनवरी तक पूरी प्रक्रिया अधर में ही रहेगी। इसके बाद पंचायत चुनावों की आचार संहिता लग जाएगी। चूंकि ज्यादातर भर्तियां ग्रामीण क्षेत्रों में होना है, इसलिए आचार संहिता के दौरान परीक्षाओं की संभावना नहीं है। इस मामले में जिला शिक्षा अिधकारी अजय कटियार का कहना था कि रिक्त पदों के संबंध में पूर्व में मांगी गई जानकारी को भेजा जा चुका है। परीक्षा की तारीख को लेकर विभाग के पास फिलहाल कोई सूचना नहीं आई है। उन्होंने कहा कि आचार संहिता के चलते किसी भी तरह की भर्ती संबंधी प्रक्रिया वैसे भी स्थगित हो जाती हैं।

तीनवर्ग में होना है भर्ती

वर्गएक की परीक्षा पहले होगी, और उसके बाद वर्ग दो और तीन की परीक्षाएं भी होना है। अगर पहली परीक्षा ही जनवरी के बाद होती है तो अन्य परीक्षाएं मार्च तक चलेंगी। इसके बाद रिजल्ट आएगा और फिर भर्ती के संबंध में लंबी प्रक्रिया चलेगी। पूर्व के अनुभव से यह बात सामने आई है कि पूरी प्रक्रिया छह माह से ज्यादा वक्त ले लेती है। वहीं पिछले सालों में हुई भर्तियों को लेकर हुए भ्रष्टाचार के मामले सामने आने के बाद इस बार हर काम सावधानी से करने की कोशिश भी की जाएगी।

तीन साल बाद संविलियन

संविदाशिक्षकों का तीन साल की सेवा अवधि के बाद अध्यापक संवर्ग में संविलियन हो जाता है। इसके बाद उन्हें नियमित वेतनमान मिलता है, जो संविदा अवधि के मुकाबले दो गुने से ज्यादा होता है।

प्राइमरी से लेकर हायर सेकंडरी स्तर तक शिक्षकों के कई पद खाली हैं। - फाइल फोटो

सेमेस्टर परीक्षाएं भी टलेंगी!

कॉलेजमें स