पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • नपाध्यक्ष ने संभाली कुर्सी, 300 कर्मियों के वेतन चेक पर किए साइन

नपाध्यक्ष ने संभाली कुर्सी, 300 कर्मियों के वेतन चेक पर किए साइन

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नगर पालिका के नव निर्वाचित अध्यक्ष सुरेंद्र जैन ने सोमवार को अधिकृत रूप से अध्यक्ष की कुर्सी संभाल ली। पहले सम्मेलन और पदभार ग्रहण समारोह के बाद वे पहली बार सोमवार 4:45 बजे नपा पहुंचे। यहां अधिकारियों, कर्मचारियों ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया। जैन ने सबसे पहले नपा के 300 कर्मचारियों के वेतन की जानकारी लेकर करीब 24 लाख रुपए के चेक पर दस्तखत किए। साथ ही वृद्धाश्रम के भोजन के दो माह से अटके 65 हजार रुपए के चेक पर हस्ताक्षर किए। शनिवार को नपा का पहला सम्मेलन हुआ। इसमें उपाध्यक्ष का चुनाव हुआ। रविवार को पदभार ग्रहण कार्यक्रम हुआ। इस दौरान जैन ने औपचारिक रूप से सीएमओ दिनेश मिश्रा, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान, पूर्व मंत्री कमल पटेल, जिलाध्यक्ष अमरसिंह मीणा की मौजूदगी में रजिस्टर पर दस्तखत किए थे। सोमवार पौने 5 बजे नपा पहुंचे। अमर ज्योति पर पुष्पांजलि, शहीदों को नमन कर वे अध्यक्ष कक्ष में पहुंचे। सबसे पहले उन्होंने सीएमओ मिश्रा से पेंडिंग काम-काज की जानकारी ली। वेतन भुगतान का मामला सामने आते ही उन्होंने सबसे पहले करीब 300 कर्मचारियों के वेतन के चेक पर दस्तखत किए। फिर वृद्धाश्रम संबंधी राशि के चेक पर हस्ताक्षर किए।

पहला लक्ष्य: हिंदू पंचांग के अनुसार नया साल गुड़ी पड़वा को मनाया जाता है। इस बार नपा ने इसे शहर में व्यापक स्तर पर मनाने का निर्णय लिया है। आयोजन की रूपरेखा तय करने के लिए जैन ने पार्षद ओम मोरछले और विपिन सोनकर काे जिम्मेदारी दी है। वे यह तय करेंगे उत्सव को किस तरह से और किन धार्मिक व सांस्कृतिक गतिविधियों के साथ मनाया जाए। यह आयोजन 29 मार्च को होगा।

दूसरा लक्ष्य: एलबीएस काॅलेज में छात्रों को दिलाए विश्वास के तहत फरवरी के आखिरी सप्ताह से वे विद्यार्थियों के साथ जन संवाद करेंगे। इसके लिए पार्षद लक्ष्मीनारायण पटेल व सचिन जैन को जिम्मा दिया है।

हरदा। नपाध्यक्ष जैन वेतन भुगतान रजिस्टर पर दस्तखत करते हुए।

तय किए दो लक्ष्य
पहले दिन आई वार्ड 34 की पानी की समस्या
जैन ने बताया, पहले दिन वार्ड 34 के नागरिक मिलने आए। जिन्होंने पानी नहीं मिलने की जानकारी दी। जैन ने पार्षद से संपर्क कर कहा, वे टंकियांं रखने की जगह देखकर चिन्हित करें, वहां टंकिया रखकर भरवाई जाएंगी। इसके अलावा रोजाना जितने पानी के टैंकर की जरूरत होगी उतने भेजे जाएंगे।

खबरें और भी हैं...