• Hindi News
  • सूखे की मार, सरकार जल उत्सव मनाने में मगन: टाले

सूखे की मार, सरकार जल उत्सव मनाने में मगन: टाले

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भाजपा केवल गरीबों के उत्थान और किसानों के सुख दुख में उसके साथ खड़े होने का झूठा दम भरती है। सच्चाई यह है कि भाजपा की सरकार को गरीब व किसानों की नहीं बल्कि पूंजीपतियों के हितों की चिंता है। फिलहाल पूरा प्रदेश सूखे के मार झेल रहा है। कर्ज से तंग किसान आत्महत्या कर रहे हैं। ऐसे में सरकार उनकी सुध लेने के बजाय जल उत्सव मनाने में मगन है। यह आरोप पूर्व नपाध्यक्ष हेमंत टाले ने लगाया। उन्होंने कहा भाजपा की केंद्र व राज्य सरकार नर्मदा के तटों को पर्यटक स्थल के रुप में विकसित करने के लिए जनता का पैसा पानी की तरह बहा रही है। नर्मदा के किनारे की बेशकीमती जमीन बहुराष्ट्रीय कंपनियों को कौड़ियों के मोल बेची जा रही है। टाले ने कहा कि धर्म व संस्कृति की बड़ी-बड़ी बातें करने वाली भाजपा को अब यह नहीं दिख रहा कि भविष्य में ये कंपनियां इन क्षेत्रों में 3 व 5 सितारा संस्कृति को बढ़ावा देकर पर्यटकों को नर्मदा तटों पर भोग विलासिता के साधन उपलब्ध कराएंगी। उन्होंने कहा नर्मदा नदी के संसाधनों से भाजपा सरकार मोटी कमाई कर रही है। लेकिन लंबा समय बीतने के बाद भी विस्थापितों की सुध लेने का भाजपा नेताओं के पास समय नहीं है। बांध के कारण विस्थापित कई गांवों में आज भी लोग बुनियादी सहूलियतों को तरस रहे हैं। प्रदेश व लोगों के घर रोशन करने के लिए अपने घरों को बांध के पानी में डूबोने वाले इन लोगों के साथ सरकार का यह सौतेलापन समझ से परे है।