• Hindi News
  • National
  • जबेरा में अतिक्रमण हटाने के लिए नोटिस जारी ,पर स्थिति स्पष्ट नहीं

जबेरा में अतिक्रमण हटाने के लिए नोटिस जारी ,पर स्थिति स्पष्ट नहीं

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ग्रामीण बोले: आखिर जबेरा से कब हटेगा अतिक्रमण

ओमप्रकाश शर्मा| जबेरा

नगर में अतिक्रमण हटाने के लिए प्रशासन द्वारा जारी किए गए नोटिस के बावजूद भी लोगों में संशय की स्थिति बनी हुई है। सड़क हादसों में दो लोगों की मौत एवं दो बार भड़के जनाक्रोश के बावजूद भी प्रशासन द्वारा अतिक्रमण हटाने को लेकर अब तक मात्र नोटिस के अलावा कोई कार्रवाई नहीं की गई है। 16 जून को सड़क हादसे में मासूम की मौत के बाद एडीएम वीके देशाई ने कलेक्टर से बात करके ग्रामीणों को लिखित आश्वासन दिया था कि 15 दिन के ंदर सड़क से अतिक्रण हटा दिया जाएगा। इसके लिए कलेक्टर ने अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के लिए जबेरा तहसीलदार को नियुक्त किया गया।

जिसके बाद तहसीलदार ने अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई को लेकर 12 जुलाई को एक दर्जन से अधिक लोगों को नोटिस देकर स्वेच्छा से अतिक्रमण हटाए जाने का 19 जुलाई तक का समय दिया गया है। साथ ही अतिक्रमण को लेकर जनसुनवाई का भी अवसर दिया गया है। तय समय सीमा में अतिक्रमण न हटाने पर प्रशासन द्वारा अतिक्रमण हटाए जाने की बात कही गई है। अब यहां गौर करने वाली बात यह है कि ऐसी कार्रवाई बीते एक साल में तीन बार हो चुकी है।

तहसीलदार द्वारा नोटिस देकर तारीख तय कर दी जाती है और जब अतिक्रमण हटाने की तारीख आ जाती है तो कभी संसाधनों की कमी, बजट तो कभी पुलिस बल की कमी का बहाना कर कार्रवाई को टाल दिया जाता है। अब प्रशासन द्वारा एक बार फिर से पुरानी परंपरा के अनुसार नोटिस जारी किए गए हैं। जबकि अतिक्रमण पहले ही चिन्हित किए जा चुके हैं इसके बावजूद भी प्रशासन द्वारा औपचारिकता निभाई जा रही है। महत्वपूर्ण बात यह है कि प्रशासन द्वारा किन लोगों को नोटिस जारी किए इसकी भी जानकारी मीडिया को नहीं दी जा रही है। यहां तक कि नोटिस की संख्या भी नहीं बताई जा रही है। ऐसे में नगरवासियों को एक बार फिर से प्रशासन की कार्रवाई को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है। इस संबंध में तहसीलदार वायएस कुल्हाड़ा का कहना है कि नोटिस दिए गए हैं लेकिन कितने लोगों को इसकी जानकारी नहीं हैं।

खबरें और भी हैं...