पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • साध्वीश्री ने स्थान बदला, कहीं आज विदाई देंगे

साध्वीश्री ने स्थान बदला, कहीं आज विदाई देंगे

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
साधु वेश में निकले समाजजन, घर-घर मांगी गाेचरी

गुरुवारको कई जगह साध्वीश्री ने स्थान परिवर्तन किया। कहीं आज विहार करेंगे। इसके साथ चातुर्मास में चार महीने से चल रहे धार्मिक आयोजन का समापन होगा।

पीपली बाजार स्थित खरतरगच्छ उपाश्रय में गुरुवार को शत्रुंजय तीर्थ की भावयात्रा का आयोजन किया। आयोजन साध्वी जिनशिशुप्रज्ञाश्रीजी की निश्रा में हुआ। शुक्रवार को साध्वीमंडल का विहार हाेगा। चल समारोह सुबह 8 बजे उपाश्रय से शुरू होकर पहाड़िया रोड स्थित माणकलाल मनीषकुमार कोठारी परिवार अमलेठावाला के निवास पहुंचेगा। वहां 11 नवंबर तक रहेंगे। उस दिन सुबह 9 बजे फिर पीपली बाजार स्थित उपाश्रय आएंगे। यहां से 12 नवंबर को अष्टापद तीर्थ के लिए विहार करेंगे। अरनियापीथा मंडी में जयंतीलाल दख परिवार की प्याऊ का साध्वीजी शुभारंभ करेंगी।

सिद्धांचलरास का वाचन - पीपलीबाजार स्थित जैन पौषधशाला में चल रहे चातुर्मास का भी गुरुवार को समापन हुआ। यहां र|त्रयाश्रीजी तत्वत्रयाश्रीजी ने स्थान परिवर्तन किया। सौधर्म वृहतपागच्छीय त्रिस्तुतिक जैन श्वेतांबर श्रीसंघ (आचार्य रवींद्र सूरी अनुयायी) ने पीपली बाजार से दोपहर 1 बजे चल समारोह निकाला। यह खाचरौद रोड स्थित राजेंद्र सूरि जैन दादावाड़ी पहुंचा। यहां सकल श्रीसंघ द्वारा सिद्धांचल रास का वाचन किया गया। विदाई समारोह भी हुआ। साध्वीमंडल को कांबली ओढ़ाई।

विजेताओंको बांटे पुरस्कार- त्रिस्तुतिकजैन श्वेतांबर श्रीसंघ (आचार्य जयंतसेन सूरी अनुयायी) ने कार्तिक पूर्णिमा पर रोजाना स्थित आदिनाथ जैन मंदिर में देवदर्शन किए। राजेंद्र कॉम्पलेक्स स्थित मनमोहन पार्श्वनाथ मंदिर में ज्ञान परीक्षा को विजेताओं को पुरस्कृत किया। शांतिलाल दसेड़ा का सम्मान किया गया। रात 8 बजे आरती की।

रोजाना में नवकार महामंत्र की आराधना -जैन सोशल ग्रुप जावरा मैत्री ने रोजाना स्थित आदिनाथ जैन मंदिर में नवकार महामंत्र की आराधना की। अध्यक्ष अतुल पगारिया पीआरओ सुधीर कोचट्टा ने बताया दिनभर भक्तों का तांता लगा। खैरभेंट - जैनश्वेतांबर सोशल ग्रुप एक्टिव ने खाचरौद रोड स्थित जीवदया सोसायटी को पशुओं के पानी पीने के लिए खैर भेंट की। अध्यक्ष दिनेश सुराणा ने बताया लाभ वीरेंद्र संचेती परिवार ने लिया।

दादावाड़ी में सौवृत्त त्रिस्तुतिक जैन श्वेतांबर श्रीसंघ (आचार्य रवींद्र सूरीश्वर अनुयायी) संघ सदस्यों को सम्मानित कर