पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • ब्लड डोनर डायरेक्टरी बनेगी, रतलाम से होगी शुरुआत, देशभर के रक्तदाता जोड़ेंगे

ब्लड डोनर डायरेक्टरी बनेगी, रतलाम से होगी शुरुआत, देशभर के रक्तदाता जोड़ेंगे

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रक्तदान शिविर और वाट्सएप ग्रुप के बाद अब जल्द ही शहर के रक्तदाताओं की ब्लड डायरेक्टरी भी बनाई जाएगी। एक संगठन ने इसकी शुरुआत रतलाम से की है। जल्द ही प्रदेश और पूरे देश में इसका विस्तार किया जाएगा।

यह अनूठी पहल मानवाधिकार एवं अपराध नियंत्रण संगठन ट्रस्ट ने की है। संगठन के प्रदेशाध्यक्ष कचरू राठौर ने बताया अभी तक ब्लड डोनेशन की व्यवस्था वाट्सएप ग्रुप अथवा टेलीफोन पर कॉल कर की जाती है। वाट्सएप के एक ग्रुप में ज्यादा से ज्यादा 250 लोग जुड़ सकते हैं जबकि हमारे पास विभिन्न राज्यों के करीब 15 हजार लोग जुड़े हैं। इसमें रतलाम के ही करीब 700 लोग ऐसे हैं जो हमेशा रक्तदान को तैयार रहते हैं। बावजूद कई बार जरूरत होने पर जानकारी के अभाव में लोगों को ब्लड के लिए भटकना पड़ता है। डायरेक्टरी से सभी रक्तदाताओं का डाटा एक ही जगह उपलब्ध होगा। यह हर ऐसी जगह उपलब्ध कराई जाएगी जहां से लोगों को रक्तदाताओं की जानकारी मिल सके। डायरेक्टरी तैयार करने की शुरुआत रतलाम से की है। जल्द ही प्रदेश और उसके बाद देश के अन्य हिस्सों में विस्तार किया जाएगा। इसमें कई अन्य संगठन भी सहयोग कर रहे हैं।

हर ब्लड ग्रुप के लिए

अलग डायरेक्टरी
हर ब्लड ग्रुप के लिए अलग डायरेक्टरी बनेगी। यह शहरों के हिसाब से भी अलग-अलग होंगी। जैसे रतलाम की डायरेक्टरी में रतलाम और जावरा वाली में वहां के रक्तदाताओं के नाम, पते और फोन नंबर होंगे।

ऐसे जुड़ सकते हैं आप
रक्तदाता डायरेक्टरी में नाम जुड़वाने के लिए अपना नाम, मोबाइल नंबर, स्थायी या अस्थायी पता, ब्लड ग्रुप लिखकर मोबाइल नंबर 9993612444 पर मैसेज कर सकते हैं।

हर जिले का वाट्सएप ग्रुप, 15 हजार सदस्य
राठौर ने बताया संगठन ने लगभग हर जिले का वाट्सएप ग्रुप बना रखा है। इनमें देशभर के 15 हजार लोग जुड़े हैं। ग्रुप द्वारा रोजाना 8 से 10 लोगों को रक्त की व्यवस्था की जाती है।

खबरें और भी हैं...