• Hindi News
  • National
  • व्यापारियों ने मंडी में मनमाने कार्यों की शिकायत की, प्रधानमंत्री के नाम भेजा शिकायती फैक्स

व्यापारियों ने मंडी में मनमाने कार्यों की शिकायत की, प्रधानमंत्री के नाम भेजा शिकायती फैक्स

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अरनियापिथा नई कृषि उपज मंडी प्रांगण में हो रहे विभिन्न निर्माण कार्यों को लेकर व्यापारी संगठन ने इंजीनियर की कार्यशैली पर सवाल उठाए और मनमाने कार्यों की शिकायत की। संगठन पदाधिकारी एवं बोर्ड के व्यापारी प्रतिनिधि अशोक कोठारी ने प्रधानमंत्री के नाम गुरुवार को शिकायती फैक्स भेजकर जांच व कार्रवाई की मांग की।

व्यापारी प्रतिनिधि कोठारी ने शिकायत पत्र में लिखा कि इंजीनियर रूणिज प्रभाकर द्वारा मनमाने तरीके से अनावश्यक कार्य में मंडी बोर्ड के पैसों को बर्बाद किया जा रहा है। जो काम स्वीकृत नहीं हैं वे काम भी सेटिंग से करवाए जा रहे। हाल ही में डामरीकरण हुआ लेकिन गुणवत्ता सही नहीं है। दो साल पहले व्यापारियों को भूखंड आवंटित हुए लेकिन अभी तक लेआउट नहीं दिया। बाउंड्रीवॉल निर्माण में एक करोड़ से ज्यादा राशि खर्च की जा रही है जबकि उस क्षेत्र में समतलीकरण होना बाकी है। जब समतलीकरण होगा तो यह बाउंड्रीवॉल नीचे रह जाएगी और इसके निर्माण का औचित्य ही नहीं रहेगा। प्रधानमंत्री के स्वच्छता अभियान की धज्जियां उड़ रही हैं। शौचालय स्वीकृत है लेकिन निर्माण नहीं करवाए जा रहे। व्यापारियों के दुकानों के आगे नाला नहीं बना रहे और मसाला जोन में दुकानों के पीछे 80 लाख की लागत से नाला निर्माण का कार्य शुरू करवा दिया। जबकि इसकी मंडी बोर्ड से स्वीकृति नहीं है। अभी इस नाले के निर्माण की जरूरत नहीं है और महज दस लाख रुपए की लागत से छोटा नाला बनाकर भी पानी निकासी की जा सकती थी, लेकिन ऐसा नहीं किया। पेयजल समस्या पर किसी का ध्यान नहीं है। पेयजल पाइप लाइन डालकर नलों के मार्फत सप्लाई करना चाहिए लेकिन इस पर भी गंभीरता से ध्यान नहीं दिया। इसलिए मामले की जांच कर कार्रवाई करें। वहीं इस शिकायत को लेकर मंडी इंजीनियर रूणिज प्रभाकर ने दो टूक कहा सभी काम नियमानुसार और सबकी निगरानी में हो रहे हैं। जो व्यक्तिगत आरोप लगाए सभी निराधार हैं।

मंडी में निर्माणाधीन नाले पर व्यापारियों ने सवाल उठाए हैं।

खबरें और भी हैं...