• Hindi News
  • National
  • नए साल से पहले क्यू ट्रैक पर दौड़ने लगेंगी पांच पैसेंजर ट्रेनें

नए साल से पहले क्यू ट्रैक पर दौड़ने लगेंगी पांच पैसेंजर ट्रेनें

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नए साल से पहले क्यू ट्रैक से होकर पांच पैसेंजर ट्रेन दौड़ने लगेंगी। रेलवे बोर्ड की हरी झंडी का इंतजार कर रहे क्यू ट्रैक पर चलाने के लिए रेल मंडल ने तीन चरणों में तैयारी की है। सबसे पहले अजमेर-रतलाम-अजमेर को इंदौर तक बढ़ाया जाएगा। दो एक्सप्रेस ट्रेनों का मार्ग बदलकर फतेहाबाद, इंदौर होते हुए गुजारा जाएगा। इंदौर-दिल्ली-इंदौर के बीच वाया फतेहाबाद, नीमच, अजमेर होकर एक्सप्रेस और महू-भीलवाड़ा के बीच डेमू सहित दो नई ट्रेन भी चलेंगी। तीन फैज में प्रस्ताव तैयार कर रेल मंडल ने बोर्ड को भेज दिया है। स्वीकृति मिलने के साथ ट्रेनों का परिचालन शुरू कर दिया जाएगा। पीआरओ जेके जयंत ने बताया यात्रियों की सुविधा को देखते हुए रेल मंडल ने प्रस्ताव भेज रखा है। रेलवे बोर्ड की स्वीकृति मिलते ही क्यू ट्रैक से ट्रेनों को चलाना शुरू कर देंगे।







क्यू ट्रैक से होकर चलाई जाने वाली यात्री गाड़ियों की योजना -

पहला चरण -

19653/19654 अजमेर-रतलाम-अजमेर - क्यू ट्रैक से होते हुए इंदौर तक चलाया जाएगा। अभी 19654 अजमेर से दोपहर 1 बजे चलकर रात 8.55 बजे रतलाम आती है। दूसरे दिन सुबह 6.40 बजे चलकर दोपहर 1.50 बजे अजमेर पहुंचती है। इस बीच यह ट्रेन 9.30 घंटे रतलाम में खड़ी रहती है। पर्याप्त समय होने से चलाने में कोई दिक्कत नहीं।

19413/19414 अहमदाबाद-कोलकाता-अहमदाबाद एक्सप्रेस - रतलाम से फतेहाबाद, इंदौर, देवास, मक्सी होते हुए गुजारा जाएगा। अभी 19413 रतलाम रात 11.25 बजे आकर 11.50 बजे नागदा, उज्जैन, भोपाल होते हुए कोलकाता तक जाती है। वापसी में 19414 ट्रेन 1.15 बजे रतलाम आकर 1.40 बजे रवाना होती है।

17019/17020 अजमेर-हैदराबाद-अजमेर एक्सप्रेस- रतलाम से फतेहाबाद, इंदौर, मक्सी होकर भोपाल पहुंचाया जाएगा। अभी 17019 चित्तौड़गढ़, मंदसौर होकर हर बुधवार रात 12.25 बजे रतलाम आकर 12.50 बजे रवाना होकर नागदा, उज्जैन, भोपाल होते हुए हैदराबाद तक जाती है। वापसी में 17020 ट्रेन रविवार को 7.20 बजे रतलाम पहुंचकर 7.45 बजे रवाना होती है।

दूसरा चरण

इंदौर-दिल्ली-इंदौर एक्सप्रेस - यह रतलाम रेल मंडल की नई ट्रेन होगी, जो प्रतिदिन चलेगी। इसे फतेहाबाद, रतलाम, चित्तौड़गढ़, अजमेर, जयपुर होते हुए दिल्ली तक चलाया जाएगा। वापसी में भी यही मार्ग होगा। रेल मंडल के प्रस्ताव पर पश्चिम रेलवे मुख्यालय ने मुहर लगा दी है। बाकी मंडलों से शेड्यूलिंग की जा रही है। प्रपोजल रेलवे बोर्ड से अप्रूव होना है।

तीसरा चरण

भीलवाड़ा-महू-भीलवाड़ा डेमू ट्रेन - भीलवाड़ा से चलकर चित्तौड़गढ़, नीमच, मंदसौर, रतलाम, फतेहाबाद, इंदौर होते हुए महू तक जाएगी और आएगी। इसे महू में पीट लाइन (मेंटेनेंस के लिए) बनने के बाद चलाया जाएगा। इससे मेंटेनेंस में परेशानी नहीं होगी। शेड्यूलिंग बैठने पर अभी रतलाम-भीलवाड़ा व नीमच के बीच चल रही डेमू को भी महू तक चलाने की योजना।

खबरें और भी हैं...