• Hindi News
  • National
  • लाठियों से पीटकर ग्रामीण की हत्या करने वाले पांच आरोपियों को आजीवन कारावास

लाठियों से पीटकर ग्रामीण की हत्या करने वाले पांच आरोपियों को आजीवन कारावास

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
टवेरा पलटने और पिकअप दुर्घटना में एक ड्राइवर को दो व दूसरे को 1 साल की सजा
आमला ब्लॉक के ठानी में ग्रामीण की हत्या करने वाले पांच आरोपियों को प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश एमएस तोमर ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। प्रत्येक पर 25-25 हजार रुपए का अर्थदंड भी लगाया है। सरकारी वकील भोजराजसिंह रघुवंशी ने बताया 7 दिसंबर 2014 को ठानी में सरपंच चुनाव को लेकर बैठक थी। बैठक में गांव का उमराव और सखाराम भी गए थे। बैठक खत्म होने के बाद उमराव और सखाराम रात 9 बजे घर जा रहे थे। रास्ते में किसान सिरतू सलामे के खेत के पास गांव के पांच लोगों ने उमराव और सखाराम को घेरकर लाठियों से मारपीट की। सखाराम के सिर में गंभीर चोट आने से मौके पर ही मौत हो गई। उमराव गंभीर घायल हो गया। उमराव ने घटना की सूचना आमला पुलिस को दी। पुलिस ने मर्ग कायम कर राजेश पिता संसुलाल, जगदीश पिता संसुलाल, पंकेश उर्फ पंकज पिता सददूलाल, चिंडा उर्फ सुनील पिता सददू लाल निवासी ठानी और बबलू उर्फ गुरुदयाल पिता चिक्कू निवासी हसलपुर के खिलाफ जानलेवा हमला करने, सखाराम की हत्या करने के आरोप में केस दर्ज कर प्रकरण न्यायालय में पेश किया। न्यायाधीश ने पांचों को हत्या का दोषी ठहराते हुए आजीवन कारावास और पच्चीस-पच्चीस हजार रुपए अर्थदंड से दंडित किया।

आरोपियों पर हत्या का था शक

घटना के कुछ दिन पहले संसुलाल की ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई थी। संसुलाल के पुत्र राजेश, जगदीश और परिजनों को गांव के उमराव और सखाराम पर हत्या करने का शक था। इसी के चलते राजेश, जगदीश ने पंकेश उर्फ पंकज, चिंडा उर्फ सुनील और बबलू उर्फ गुरुदयाल के साथ मिलकर उमराव और सखाराम के साथ लाठियों से मारपीट की थी। जिसमें सखाराम की मौत हो गई।

केस 1 एडीपीओ पंकज रघुवंशी ने बताया लापरवाहीपूर्वक वाहन चलाकर 3 यात्रियों को मौत के घाट उतारने और सहयात्रियों को घायल करने वाले ड्राइवर को प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट मीना शाह ने 2 साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। घटना 27 दिसंबर 2010 को एनएच 69 के ससुंद्रा जोड़ पर टवेरा जीप में सवार 8 लोग घायल हुए थे। चालक के लापरवाह रवैये से वाहन पलटा था। इलाज के दौरान जिला अस्पताल में वाहन सवार बच्चालाल, वर्षा, काली बेन और नील 4 लोगों की मौत हो गई थी। न्यायाधीश ने धारा 304 ए में आरोपी होशंगाबाद निवासी सुंदरलाल पिता गिरधारी भदौरिया को 2 साल के सश्रम कारावास और अर्थदंड से दंडित किया है।

केस 2 बोरदेही- मुलताई के हथनोरा जोड़ पर लापरवाहीपूर्वक वाहन चलाने से एक पिकअप पलट गई थी। साल 2008 की इस दुर्घटना में करीब एक दर्जन वाहन सवार मनोज, सरवन सहित अन्य घायल हो गए थे। प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट श्री कुड़ोपा ने आरोपी मोरखा निवासी नीलेश पिता शिवप्रसाद साहू 34 साल को एक साल की सजा सुनाई है। एडीपीओ श्री रघुवंशी के अनुसार हथनोरा पेट्रोल पंप के पास ड्राइवर की लापरवाही के कारण पिकअप पलट गई थी।

खबरें और भी हैं...