पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • चेक बाउंस के मामले में ट्रक स्वामी को एक साल की कैद

चेक बाउंस के मामले में ट्रक स्वामी को एक साल की कैद

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
परिवादी को 11 लाख 72 हजार 500 रुपए प्रतिकर देने के भी आदेश

भास्कर संवाददाता| मुलताई

चेक बाउंस के प्रकरण में जेएमएफसी मधुसुदन जंघेल ने ट्रक स्वामी को एक वर्ष के सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। परिवादी को 11 लाख 72 हजार 500 रुपए प्रतिकर अदा करने के भी आदेश दिए है।

परिवादी के वकील चैतराम वानखेड़े ने बताया अंबेडकर वार्ड निवासी मनीष मुलक ने श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस कंपनी लिमिटेड बैतूल से ट्रक के लिए ऋण लिया था। ऋण लेने के बाद मनीष ने ट्रक खरीदा। ट्रक स्वामी मनीष मुलक ऋण की मासिक किस्त जमा नहीं कर रहा था। फाइनेंस कंपनी ने किस्त जमा करने के लिए ट्रक स्वामी को मौखिक और विधिक सूचना भी दी। इसके बाद 21 फरवरी 2015 को ट्रक स्वामी मनीष मुलक ने बैंक खाते का 10 लाख रुपए का चेक फाइनेंस कंपनी के शाखा प्रबंधक को दिया। ट्रक स्वामी के बैंक खाते में पर्याप्त राशि नहीं होने से 25 फरवरी 2015 को चेक बाउंस हो गया। कंपनी के शाखा प्रबंधक ने न्यायालय में परिवाद प्रस्तुत किया।

न्यायाधीश मधुसुदन जंघेल ने प्रकरण की सुनवाई उपरांत ट्रक स्वामी मनीष मुलक को दोषी ठहराते हुए एक साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई। ट्रक स्वामी मनीष को आदेशित किया कि वह परिवादी को 11 लाख 72 हजार 500 रुपए प्रतिकर अदा करेगा।

खबरें और भी हैं...