पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • चिटफंड घोटाले के आरोपी की जमानत पर रोक

चिटफंड घोटाले के आरोपी की जमानत पर रोक

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
{ एक अन्य महिला आरोपी अभी भी जमानत पर, अन्य आरोपी अब भी फरार

कार्यालयसंवाददाता | सीहोर

ईवमिरेकल ज्वेलर्स लिमिटेड के नाम से चिट फंड स्कीम द्वारा लोगों के साथ धोखाधड़ी करने वाले एक आरोपी की जमानत जिला सत्र न्यायालय ने खारिज कर दी है। जिला सत्र न्यायाधीश एएम सक्सेना ने आदेश पारित करते हुए आरोपी शिवराज पुत्र राधेश्याम शर्मा निवासी शांति नगर अजमेर रोड राजस्थान की पूर्व में स्वीकृत जमानक आदेश को निरस्त करते हुए न्यायिक अभिरक्षा में लेने का आदेश दिया है।

उपसंचालक अभियोजन सतीश दिनकर ने बताया कि चिटफंड के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले इन आरोपियों की जांच एसटीएफ द्वारा की गई है। नसरुल्लागंज थाने में आरोपी शिवराज और हरीश शर्मा के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया था। विवेचना के दौरान इतिश्री शर्मा, पूनम शर्मा और सतीश शर्मा को भी आरोपी बनाया गया था। इन दिनों आरोपि इतिश्री शर्मा जमानत पर हैं। अन्य आरोपी अभी फरार हैं। शिवराज की जमानत 13 मार्च 2012 को स्वीकृत हुई थी।

जिलासत्र न्यायाधीश ने दिए जमानत निरस्ती के आदेश

उपसंचालक श्री दिनकर ने बताया कि आरोपीगण ईव मेरिकल ज्वेलर्स लिमिटेड के नाम पर चिट फंड स्कीम द्वारा निवेशकों को सोना खरीदने के लिए बुकिंग पूंजी पर 10 प्रतिशत सुनिश्चित ग्रोथ के रूप में लाभ देने का वादा कर चेन सिस्टम शुरु किया था। फरियादी कैलाश जाट की रिपोर्ट पर शिवराज के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया था। इस स्कीम में करीब 670 लोगों ने निवेश किया था। जांच के दौरान इन निवेशकों से आरोपियों ने करीब 1 करोड़ 14 लाख, छयाछठ हजार 841 रुपए का फर्जीवाड़ा किया था। न्यायालय ने आरोपी द्वारा प्रदेश के निक्षेपकों की 139 करोड़ रुपए की राशि हड़पने और धोधाखड़ी को गंभीरता से लेते हुए जमानत निरस्त करने का आदेश पारित किया है।