वाद्य यंत्र,ढोल बजाकर गाए आदिवासी गीत / वाद्य यंत्र,ढोल बजाकर गाए आदिवासी गीत

Nasrullaganj News - भास्कर संवाददाता | नसरुल्लागंज होली पर्व के पांच दिन पूर्व आदिवासियों के भगोरिया पर्व की शुरुआत लाड़कुई गांव...

Mar 21, 2016, 03:48 AM IST
वाद्य यंत्र,ढोल बजाकर गाए आदिवासी गीत
भास्कर संवाददाता | नसरुल्लागंज

होली पर्व के पांच दिन पूर्व आदिवासियों के भगोरिया पर्व की शुरुआत लाड़कुई गांव से हुई। रविवार को तहसील क्षेत्र के कस्बाई गांव लाड़कुई में आदिवासी बाहुल्य ग्रामों में बसे वनवासी, बारेला समाज के परिवारों ने यह पर्व उल्लास से मनाया।

लाड़कुई में आदिवासियों के इस भगोरिया बाजार में बारेला समाज के आदिवासी लोगों के अतिरिक्त बड़ी संख्या में आसपास के ग्रामीण भी बाजार का आनंद लेने पहुंचे। जहां बारेला समाज के परिवारों ने अपनी संस्कृति के अनुसार वाद्य यंत्रों व ढोल बजाकर आदिवासी गीत गाए। 21 मार्च को पिपलानी और 22 मार्च को हमीदगंज व चकल्दी में आदिवासियों का भगोरिया पर्व आयोजित होगा।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम : जनपद क्षेत्र में भराने वाले भगोरिया बाजारों में स्थानीय प्रशासन द्वारा पुलिस बल लगाकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। भगोरिया पर्व के चलते मेले में आदिवासियों की संस्कृति से संबंधित सभी आभूषण, श्रृंगार सामग्री के अतिरिक्त गुड़ की जलेबी, बेसन के लड्डू, शकर के पताशे आदि की बिक्री हुई। साथ ही बच्चों ने भी मेले में झूलों का आनंद लिया।

भगोरिया पर्व के बाजार में खरीदारी करती हुईं आदिवासी महिलाएं व युवतियां।

भगोरिया पर्व

X
वाद्य यंत्र,ढोल बजाकर गाए आदिवासी गीत
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना