पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • 10 हाईस्कूल चल रहे हैं शिक्षक विहीन 51 स्कूलों में से केवल 5 में ही हैं प्राचार्य

10 हाईस्कूल चल रहे हैं शिक्षक विहीन 51 स्कूलों में से केवल 5 में ही हैं प्राचार्य

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रेवाशंकर शर्मा | नसरुल्लागंज

सब पढ़े-सब बढ़े अभियान सरकार की कमियों से ही अधर में लटका है। मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र में 10 हाईस्कूल शिक्षक विहीन चल रहे हैं तो 51 में से केवल 5 स्कूलों में ही प्राचार्य हैं। जब स्कूलों में शिक्षक ही नहीं हैं तो इनमें पढ़ाई चल रही होगी, वहीं बिना प्राचार्य के स्कूल का प्रबंधन कैसे हो रहा होगा इसका अनुमान लगाया जा सकता है।

क्षेत्र में 30 हाईस्कूल और 21 हायर सेकंडरी स्कूल संचालित हैं। इनमें क्रमश: 7221 और 3877 बच्चे अध्ययनरत हैं। इन हजारों बच्चों का भविष्य जब मुख्यमंत्री के क्षेत्र में ही अंधकार में है तो प्रदेश के लाखों बच्चों के भविष्य का अनुमान लगाया जा सकता है।

10 हाईस्कूल शिक्षक विहीन: क्षेत्र में 30 हाईस्कूल संचालित हो रहे हैं। इनमें शिक्षकों की बात की जाए तो 10 शिक्षक विहीन चल रहे हैं। इनमें कन्या हाईस्कूल इटारसी, सातदेव, चौरसाखेड़ी, किशनपुर, श्यामपुर, सुकरवास, डाबरी, खजूरी वन, बगवाड़ा व छापरी में एक भी शिक्षक पदस्थ नहीं हैं। वहीं सोयत में 1, छिदगांव मौजी 4, हाथीघाट 2, पाचौर 2, खरसानिया 2, निम्नागांव 4, बड़नगर 1, तिलाड़िया 1, डिमावर 3, दिगवाड़ 1, धौलपुर 5, बाईबोड़ी 3, मगरिया 3, नयापुरा 1, टीकामोढ़ 2, गुलरपुरा में 2, भादाकुई 2, अमीरगंज 2, कोठरा पिपलिया व बगवाड़ा में केवल 1-1 शिक्षक पदस्थ है।

निगम व मंडल अध्यक्ष के गांव में एक शिक्षक संभाल रहा स्कूल : क्षेत्र में 21 हायर सेकंडरी स्कूल खोले जा चुके हैं। इसमें गौर करने वाली बात यह है कि वन विकास निगम अध्यक्ष गुरुप्रसाद शर्मा के गांव के हायर सेकंडरी स्कूल, मंडल अध्यक्ष लखन यादव के गांव बालागांव के स्कूल, भाजपा जिलाउपाध्यक्ष मिश्रीलाल विश्वकर्मा के गांव सेमलपानीकदीम में भी मात्र 1-1 शिक्षक ही हैं। इसी प्रकार हाथीघाट 0, डिमावर 2, चींच 3, तजपुरा में 2 शिक्षक हैं। वहीं उत्कृष्ट व कन्या नसरुल्लागंज में पर्याप्त शिक्षक हैं। छीपानेर में 5, गोपालपुर में भौतिक शास्त्र व गणित का पद रिक्त है। पिपलानी, वासुदेव, लाड़कुई, चकल्दी, इटारसी और बोरखेड़ा कलां में पर्याप्त स्टाफ है। सतराना में गणित का पद रिक्त है। वहीं राला में 4 शिक्षक हैं।

शासन स्तर पर हो सकती है पहल
शालाओं में शिक्षकों व प्राचार्यों के रिक्त पदों के संबंध में शासन स्तर पर पहल हो सकती हैं। वर्तमान में मौजूदा स्टाफ से ही अध्यापन कार्य कराया जा रहा है। पीएन पेठारी, बीईओ

हाईस्कूल 30,

हायर सेकंडरी 21

पदस्थ प्राचार्य 06

रिक्त पद 45

हाईस्कूल में बच्चे 7221

हायर सेकंडरी में 3877

खबरें और भी हैं...