• Hindi News
  • National
  • इंदिरा गांधी रिवोल्यूशन का आज सम्मेलन, कांग्रेस में फिर गुटबाजी

इंदिरा गांधी रिवोल्यूशन का आज सम्मेलन, कांग्रेस में फिर गुटबाजी

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मंदसौर | इंदिरा गांधी रिवोल्यूशन कांग्रेस (आईजीसीआर) का कार्यकर्ता सम्मेलन 15 जुलाई दोपहर 12.15 बजे से नेहरू बस स्टैंड स्थित फहेतपुरिया धर्मशाला में होगा। इसमें मंदसौर संसदीय क्षेत्र के मंदसौर, नीमच जिले के अलावा रतलाम के जावरा तक के कार्यकर्ताओं को आमंत्रित किया है।

कालूखेड़ा गुट की ओर से कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष राजेंद्रसिंह गौतम ने आयोजन की कमान संभाल रखी है। वे शक्ति प्रदर्शन के जरिए दूसरे गुट को संसदीय क्षेत्र में राजनीतिक ताकत का एहसास कराना चाहते हैं। कांग्रेस जिलाध्यक्ष प्रकाश रातड़िया ने कहा कि आईजीसीआर संस्था कांग्रेस संगठन का प्रकोष्ठ नहीं है। इसमें पार्टी के हितों के विपरीत काम ना हो। रातड़िया पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन समर्थक माने जाते हैं।कांग्रेस के समानांतर हो रहे आयोजन को लेकर दोनों गुटों में दूरी बनी है। अगले साल से चुनावी माहाैल शुरू हो जाएगा। 2018 में विधानसभा, 2019 में लोकसभा चुनाव हैं। इसे लेकर दोनों धड़े अपने-अपने स्तर पर सभी वर्गों तक जाने की चाह में हैं। पिछले दिनों मल्हारगढ़ में किसान सत्याग्रह में प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव, राष्ट्रीय महासचिव मोहनप्रकाश, नटराजन समेत अन्य नेता साथ थे। अब दूसरा धड़ा शनिवार को मंदसौर में पूर्व मंत्री महेंद्रसिंह कालूखेड़ा के आतिथ्य में कार्यकर्ता सम्मेलन करने जा रहा है। कालूखेड़ा व जिपं के पूर्व अध्यक्ष गौतम दोनों ही लोकसभा चुनाव लड़ चुके हैं और संसदीय क्षेत्र की राजनीति से अच्छे तरीके से वाकिफ हैं। उनके मुताबिक कार्यकर्ताओं की परेशानियां सुनने, मुद्दे व भावना जानने को सम्मेलन हो रहा है। इसके बाद मांगों को लेकर शासन के नाम ज्ञापन दिया जाएगा। उनके साथ पूर्व विधायक विजेंद्रसिंह मालाहेड़ा, पूर्व जिलाध्यक्ष सुरेंद्र सेठी, मुकेश काला समेत स्थानीय नेता भी होंगे।

मुझे सूचना नहीं दी, पार्टी के खिलाफ काम ना हो-रातड़िया
कांग्रेस जिलाध्यक्ष रातड़िया का कहना है संगठन में कांग्रेस के अलावा युवा कांग्रेस, महिला, एनएसयूआई, सेवादल के अलावा विभिन्न प्रकोष्ठ हैं। इंदिरा गांधी रिवोल्यूशन कांग्रेस कहीं नहीं है, यह अधिकृत भी नहीं है। अगर वहां पार्टी के हितों के विपरीत काम हुआ तो अनुशासनहीनता में आएगा। इसमें पार्टी के निष्ठावान लोग भले ही शामिल हों लेकिन रीति-नीति के खिलाफ कुछ नहीं होना चाहिए। यही अपेक्षा है। वरना यह अनुशासनहीनता के दायरे में आएगा। वहां क्या आयोजन हो रहा, मुझे इस बारे में संबंधितों ने कोई सूचना नहीं दी।

खबरें और भी हैं...