पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • नपा ने 6 महीने पहले किया था स्कूल की छत का सुधार, पहली बारिश में ही टपकने लगी

नपा ने 6 महीने पहले किया था स्कूल की छत का सुधार, पहली बारिश में ही टपकने लगी

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लाखों रुपए खर्च करने के बाद भी स्थिति में सुधार नहीं

भास्कर संवाददाता| सारनी

शोभापुर कॉलोनी के प्राइमरी स्कूल में छह महीने पहले नगर पालिका ने भवन का सुधार कार्य किया था। नगर पालिका ने इसके लिए जबरन टेंडर निकाले और चहेते ठेकेदारों को काम दे दिया। नतीजा यह है पहली ही बारिश में स्कूल का भवन टपकने लगा है। बच्चों के बैठने के लिए जगह तक नहीं है। वे परेशान हो रहे हैं। यहां के प्राइमरी और मिडिल स्कूल के बच्चों के लिए बैठने के लिए सूखे कक्षों की कमी है। घोड़ाडोंगरी ब्लाॅक के तहत आने वाले स्कूल ट्रायबल विभाग के अंतर्गत आते हैं। इनकी देखरेख भी ट्रायबल विभाग की है। मगर, कई दिनों से स्कूल भवनों का मेंटेनेंस नहीं होने के कारण इसकी हालत खराब हो गई थी। इसके बाद नगर पालिका ने इनके सुधार के टेंडर निकाले। टेंडर होने के बाद स्कूलों का सुधार हुआ, लेकिन गुणवत्ता इतनी खराब पहली ही बारिश में स्कूल भवन की छत टपकने लगी। प्लास्टर भी खराब क्वालिटी के सीमेंट से किया गया। शोभापुर कॉलोनी के प्राइमरी और मिडिल स्कूल के यही हाल हैं। यहां कमरों में बैठने की तक जगह नहीं है। शिक्षकों ने बताया बमुश्किल एक या दो कमरों में बच्चों को बैठाकर वे पढ़ाई करवाते हैं। यही स्थिति अन्य स्कूलों की भी है। परेशानी बारिश के साथ बढ़ रही है, लेकिन सुधार की ओर किसी का ध्यान नहीं।

200 से ज्यादा बच्चे 2 कमरों में ही बैठकर करते हैं पढ़ाई
शोभापुर कॉलोनी के प्राइमरी और मिडिल स्कूल में 200 से ज्यादा बच्चे पढ़ाई करते हैं। यहां बारिश के दिनों में दो कमरे ही सुरक्षित रहते हैं। इससे पढ़ाई तो हो ही नहीं पाती। यही कारण है यहां बच्चे बारिश के दिनों में स्कूल आना ही पसंद नहीं करते हैं। कमोबेश यही स्थिति पाथाखेड़ा और सारनी के वार्ड 1 के स्कूलों की भी है। इनमें नपा ने लाखों खर्च करने के बाद भी कोई सुधार नहीं हुआ।

सर्वे कराकर कराएंगे सुधार ठेकेदार पर भी कार्रवाई
स्कूलों की फाइलों का अध्ययन किया जा रहा है। शनिवार को सभी स्कूलों का सर्वे कराया जाएगा। सुधार करने की गुंजाइश होगी तो इसे कराया जाएगा। ठेकेदार दोषी है तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। शुक्रवार को वार्ड 1 में एक स्कूल का सर्वे भी किया गया है। इसमें कमियां मिलीं। पवन कुमार राय, सीएमओ नपा सारनी

नपा सीएमओ से शिकायत, दोबारा खुलवाई फाइलें
स्कूल भवनों के मेंटेनेंस के समय भी भास्कर ने मामले को उजागर किया था। गुणवत्ताहीन कामों की जानकारी उजागर करने के बाद भी नपा ने कोई ठोस कार्रवाई नहीं की। उस समय नपा ने अपने चहेते ठेकेदारों को टेंडर देकर काम कराया था। प्लास्टर और अन्य कार्यों की गुणवत्ता खराब होने के कारण अब पानी टपक रहा है। शुक्रवार को मामले की शिकायत होने के सीएमओ ने दोबारा फाइलें खुलवाईं। जांच के निर्देश भी दिए।

सारनी। शोभापुर कॉलोनी के प्राइमरी स्कूल की छत से इस तरह टपकता है पानी।

खबरें और भी हैं...