• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Raisen
  • आधे सत्र के बाद कोर्स से हटाया संस्कृत अंग्रेजी विषय
--Advertisement--

आधे सत्र के बाद कोर्स से हटाया संस्कृत-अंग्रेजी विषय

Raisen News - माध्यमिक शिक्षा मंडल के एक निर्देश ने 9वीं, 10वीं और 11वीं के विद्यार्थियों को चिंता में डाल दिया है, जिन्होंने...

Dainik Bhaskar

Feb 23, 2017, 05:00 AM IST
आधे सत्र के बाद कोर्स से हटाया संस्कृत-अंग्रेजी विषय
माध्यमिक शिक्षा मंडल के एक निर्देश ने 9वीं, 10वीं और 11वीं के विद्यार्थियों को चिंता में डाल दिया है, जिन्होंने सिक्योरिटी व आईटी जैसे वैकल्पिक विषयों का चयन किया था। एमपी बोर्ड ने आधे सत्र के बाद इन विषयों को नियमित विषयों में शामिल कर लिया, जबकि संस्कृत और अंग्रेजी विषय को कोर्स से बाहर कर दिया। उत्कृष्ट विद्यालयों में यह विषय लेकर पढ़ाई कर रहे विद्यार्थियों को परीक्षा परिणाम खराब होने का डर सता रहा है।

माध्यमिक शिक्षा मंडल ने शिक्षा सत्र 2015-16 में प्रदेशभर के उत्कृष्ट विद्यालयों में व्यावसायिक पाठ्यक्रमों की शुरुआत की थी। जिसमें इंफरमेशन टेक्नोलॉजी व सिक्यूरिटी विषय को शामिल किया गया था। भविष्य में मददगार विषयों को लेकर विद्यार्थी भी खुश थे लेकिन परीक्षा के पास आते ही ऐसे निर्देश ने उन्हें चिंता में डाल दिया है। रायसेन के उत्कृष्ट विद्यालय में 9वीं में 40-40 छात्र, 10 वीं में 25-25 छात्रों ने इंफरमेशन टेक्नोलॉजी व सिक्यूरिटी विषय चुना था। इन छात्रों को अब संस्कृत की परीक्षा से वंचित कर दिया गया है, हालांकि इन विद्यार्थियों ने परीक्षा फार्म में इंफरमेशन टेक्नोलॉजी व सिक्यूरिटी विषय ही भरा है। संस्कृत काे अतिरिक्ति विषय के रूप में रखा था, लेकिन 11 वीं के 18-18 छात्रों ने इस विषय को चुना था। अब इन छात्रों को अंग्रेजी विषय को छोड़ने के लिए कहा जा रह है, जबकि यह विद्यार्थी अंग्रेजी विषय छोड़ना नहीं चाहते है। छात्रों का कहना है कि यदि वे अंग्रेजी विषय को छोड़ते है तो उनकी मार्कशीट से अंग्रेजी विषय अंकित नहीं होगा, जिससे भविष्य में उन्हें कई प्रकार की परेशानियों से जूझना पड़ेगा।

संस्कृत और अंग्रेजी को करना होगा ड्रॉप करना


बदलाव

X
आधे सत्र के बाद कोर्स से हटाया संस्कृत-अंग्रेजी विषय
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..