पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • पांचवें दिन भी नहीं लगा गायब बच्चों का सुराग

पांचवें दिन भी नहीं लगा गायब बच्चों का सुराग

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कुछदिन पहले दो बच्चे घर से बिना बताए गायब हो गए। ये दोनों सगे भाई हैं। बच्चों के पिता ने कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई लेकिन पांच दिन बाद भी इनका कोई सुराग नहीं लग सका। बच्चों की मां और पिता का रो-रोकर बुरा हाल है। काफी तलाश करने के बाद भी इन बच्चों को पता नहीं चल सका है।

जिला मुख्यालय से करीब सात किमी दूर स्थित थूनाकलां के फार्म हाउस पर छिंदवाड़ा का एक परिवार मजदूरी करता है। जोशी फार्म हाउस पर यह परिवार पिछले 22 सालों से मजदूरी कर रहा है। यहीं पर यह लोग रहते हैं और मजदूरी करते हैं। विस्ता लाल और उसकी प|ी संतोषी अपने दो बच्चों राहुल 12 वर्ष और विशाल 8 वर्ष के साथ रहते थे। विस्ता लाल के पास उसका 20 वर्षीय साला संतोष भी रहता है। विस्ता लाल ने बताया कि 23 फरवरी को उसका साला दोनों बच्चों को थूनाकलां स्थित प्राइवेट स्कूल में सुबह साइकिल से छोड़कर आया था। बाद में कुछ समय बाद उसने दूर से देखा कि राहुल और विशाल दोनों घर गए। समय से काफी पहले बच्चों के आने का कारण पूछने जब वह घर तक पहुंचता तो इसी बीच ये दोनों बच्चे घर से गायब हो गए। अब ये दोनों बच्चे कहां हैं, इसकी पुलिस तलाश कर रही है। हालांकि इनका कुछ पता नहीं चल सका है।

परिजनोंको भी नहीं है जानकारी : विस्तालाल ने बताया कि दोनों बच्चे कहां चले गए, समझ से बाहर है। उन्हें किसी ने कुछ नहीं कहा। वह स्कूल से जल्दी कैसे आए, इसकी जानकारी उसे नहीं है।

राहुल

िवशाल