• Hindi News
  • सभा से पहले सुरक्षा के लिए जुटा रहे सीहोर के किरायेदारों की जानकारी

सभा से पहले सुरक्षा के लिए जुटा रहे सीहोर के किरायेदारों की जानकारी

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
थाने में दे रहे हैं जानकारी
शहर के मकान मालिकों के नाम, पिता का नाम, जाति, उम्र, वार्ड, कितने साल से रह रहे हैं आदि जानकारियां ली जा रही हैं। इसके अलावा किराएदार का विवरण में नाम, पिता का नाम, जाति, उम्र, मूल निवासी प्रमाण पत्र, पूर्व में किसके मकान में रहता था उस मकान मालिक का नाम, किराए से मकान लेने का दिनांक, मोबाइल नंबर, परिवार के सदस्य, व्यवसाय, दुकान, अगर शासकीय कर्मचारी हैं तो कार्यालय का पता, फोन नंबर लिया जा रहा है। किराएदार स्कूल, कॉलेज, कोचिंग संस्थान आदि के साथ ही उसके पास वाहन का प्रकार और किसके नाम पर है, इसकी जानकारी ली जा रही है। शस्त्र का प्रकार, घरेलू सामान फ्रिज, टीवी, कूलर अन्य जानकारी संबंधित थानों में जमा कराई जा रही है।

पांच लाख किसानों की सुरक्षा की जिम्मेदारी
कार्यक्रम में करीब पांच लाख से अधिक किसानों के आने का अनुमान लगाया जा रहा है। इसके लिए 2 हजार पांच सौ से अधिक पुलिस बल तैनात किया जाएगा। इसमें करीब 24 एसपी और एडिशनल एसपी के साथ ही 70 टीआई इंस्पेक्टर मौजूद रहेंगे। इसके साथ ही दो हजार पांच सौ कांस्टेबल सुरक्षा व्यवस्था के लिए तैनात किए जाएंगे।

थानों से ली जा रही जानकारी, दिल्ली से सीआईडी टीम भी शहर में पहुंची
परिवहन मंत्री और सांसद ने तैयारियों की समीक्षा की
परिवहन मंत्री भूपेंद्र सिंह ने शेरपुर पहुंचकर किसान महा सम्मेलन के लिए की जा रही तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने वाहनों की पार्किंग व्यवस्था को लेकर कलेक्टर डॉ. सुदाम खाड़े से जानकारी ली। परिवहन मंत्री ने ठेकेदार को कार्य शीघ्र करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर विधायक विधायक सुदेश राय, पूर्व नपाध्यक्ष नरेश मेवाड़ा थे। इसके अलावा सांसद आलोक संजर, प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान, अरविंद मेनन, अरविंद भदौरिया, ब्रजेश लूनावत, भूपेंद्र सिंह यादव, जसपाल अरोरा भी शेरपुर पहुंचे जहां उन्होंने व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

भास्कर संवाददाता | सीहोर

प्रधानमंत्री के किसान सम्मेलन में शामिल होने की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आती जा रही है , वैसे-वैसे व्यवस्थाएं भी पुख्ता होती जा रही हैं। काफी काम पूरे हो चुके हैं और बाकी बचे काम पूरे होने की कगार पर हैं। मैदान की सुरक्षा के लिए शनिवार से स्पेशल फोर्स भी तैनात हो चुका है। कार्यक्रम में सुरक्षा के लिए 2500 पुलिसकर्मी तैनात होंगे । अब सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस शहर में रहने वाले किराएदारों की डिटेल निकाल रही है। इसके अलावा शहरवासियों को आयोजन स्थल पर जाने के लिए चाणक्यपुरी से रास्ता दिया जा सकता है। किसान सम्मेलन में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर प्रशासन और पुलिस का अमला पूरी तरह से जुटा हुआ है। शहर में 24 घंटे चारों तरफ निगरानी की जा रही है। नगर में मकान मालिकों से उनके किराएदारों की जानकारी ली जा रही है। इसमें उनके यहां कितने किराएदार रहते हैं। कब से रह रहे हैं। साथ ही उनका व्यवसाय, वाहन, कार्यालय का पता आदि की जानकारी थानों के माध्यम से एकत्रित की जा रही है। इसके लिए दिल्ली से सीआईडी की टीम भी आ चुकी है।

तैयार किया जा रिकार्ड
इस समय कार्यक्रम की सुरक्षा में अमला लगा हुआ है। इसके लिए शहर के किराएदारों से थाना स्तर पर जानकारी एकत्रित की जा रही है। सभी की जानकारी लेकर इसका रिकार्ड तैयार कराया जा रहा है। -मनीष कपूरिया, पुलिस अधीक्षक

रविवार को प्रधानमंत्री के लिए बने मंच को कलेक्टर ओर एसपी मनीष कपूरिया ने देखा ।

किसान सम्मेलन में इच्छुक व्यवसायी सशुल्क कैंटीन लगा सकते हैं। इसके लिए कलेक्टोरेट के कक्ष 144 में 15 फरवरी तक व्यवसायियों को पंजीयन कराना होगा। कैंटीन में व्यवसायी चाय, नाश्ता, खाना, पानी आदि का विक्रय कर सकते हैं। प्रत्येक पार्किंग स्थल पर एक कैंटीन लगाई जाएगी। इनकी संख्या करीब 30 होगी। अभी तक 7 लोगों के आवेदन आ चुके हैं। खाद्य सामग्री के रेट निर्धारित होंगे और इन्हें डिस्पले किया जाएगा।

स्थानीय थानों में भी की जा रही जांच
बाहर से शहर में आए किराएदारों से पहचान पत्र, स्थाई निवास की जानकारी लेकर उनके स्थानीय थानों से भी आपराधिक गतिविधियों की जानकारी ली जा रही है। इस तरह की जानकारी समय-समय पर पुलिस प्रशासन करता आया है।

कार्यक्रम स्थल तक पहुंचने दे रहे जानकारी
जानकारी के अनुसार आयोजन स्थल तक शहरवासियों सहित सीहोर विधानसभा के लोगों को जाने के लिए चाणक्यपुरी से रास्ता दिया जा सकता है। यह साईं मंदिर वाले रास्ते से दिया जाएगा। इसके लिए भाजपा ने भी अपने कार्यकर्ताओं को बताना शुरू कर दिया है कि उन्हें कहां से आना है। उल्लेखनीय है कि शहरवासियों के अलावा गांवों से भी बड़ी संख्या में लोग आएंगे।

30 पेड कैंटीन खोली जाएंगी
भाजपा अपने कार्यकर्ताओं को बता रही-कैसे करना है काम