पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • दावेदार बोले जब तक प्रमाण पत्र बनेगा, निकल जाएगा चुनाव

दावेदार बोले- जब तक प्रमाण पत्र बनेगा, निकल जाएगा चुनाव

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जाति प्रमाण पत्र नहीं बने तो चुनाव लडऩा हो जाएगा मुश्किल।

भास्करसंवाददाता|श्योपुर

नगरीयनिकाय चुनाव की तैयारी कर रहे कई प्रत्याशियों के सामने दुविधा खड़ी हो गई है। दरअसल चुनाव आयोग के आदेश के मुताबिक अनुसूचित जाति, जन जाति और पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित सीटों पर चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवारों को जाति प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा। लेकिन दावेदारों को टेंशन यह है कि स्थाई जाति प्रमाण पत्र बनने में 45 दिन का समय लगेगा। उधर चुनाव आयोग अस्थाई जाति प्रमाण पत्र को मंजूरी नहीं दे रहा है। ऐसे में कई उम्मीदवार चाहते हुए भी चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। हालांकि उम्मीदवारों ने इस मामले में चुनाव आयोग से नियमों में ढील देने की मांग की है।

जाति प्रमाण पत्र बनने से मायूस पार्षद पद के दावेदार।

रामनाथ शिवहरे

गौरी शंकर जाटव

सुलोचना पांचाल

बड़ौदा नगर पंचायत के वार्ड क्रमांक 1 से सुलोचना पांचाल ने कांग्रेस पार्टी से टिकट मांगा है। उनकी दावेदारी प्रबल है। इसलिए उन्हें पिछड़ा वर्ग का जाति प्रमाण पत्र चाहिए। राजस्थान में मायका होने के कारण सुलोचना ने तहसील में आवेदन लगाया है। लेकिन तहसीलदार ने नियमानुसार 45 दिन में प्रमाण पत्र जारी करने की बात कही है।

बड़़ौदा नगर पंचायत के वार्ड 5 से गौरीशंकर जाटव ने कांग्रेस पार्टी से टिकट मांगा है। उनके पास अनुसूचित जाति का स्थाई प्रमाण पत्र नहीं है। तहसील में आवेदन भी किया है तो 45 दिन में प्रमाण पत्र बनेगा।

रामनाथ शिवहरे वार्ड क्रमांक 6 बड़ौदा से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लडऩा चाहते हैं। उनके पास भी पिछड़ा वर्ग का जाति प्रमाण पत्र नहीं है। शिवहरे ने तीन दिन पहले प्रमाण पत्र के लिए तहसील में आवेदन किया है, लेकिन वो 45 दिन में ही मिलेगा।