पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • समाज के प्रमुख लोग जागृति का काम करें : इंदापुरकर

समाज के प्रमुख लोग जागृति का काम करें : इंदापुरकर

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सामाजिक समरसता पर आयोजित हुई संगोष्ठी

भास्कर संवाददाता | शिवपुरी

लोकतंत्र में वोट बैंक की राजनीति के चलते राजनेता अपने निजी स्वार्थों की खातिर हिन्दू समाज को जाति पंथ, ऊंच नीच, के आधार पर बांटकर उनमें भेदभाव की खाई खोदने में लगे हुए हैं। ऐसे में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का काम है समाज में जागृति लाना, इसके लिए समाज के प्रमुख लोगों को आगे आना होगा ताकि आपस में सामाजिक समरसता का भाव पैदा हो । यह विचार केशवधाम कार्यालय पर सामाजिक समरसता विषय पर आयोजित हुई संगोष्ठी को संबोधित करते हुए गोष्ठी में उपस्थित मुख्य वक्ता संघ के प्रांतीय सह कार्यवाह यशवंत इंदापुरकर ने व्यक्त किए।

उन्होंने कहा कि राष्ट्र का हित तभी संभव है जब हिन्दू समाज अपनी सामाजिक कुरीतियों को छोड़कर एक साथ उठ खड़ा होगा। उन्होंने समाज के मुखियाओं से आग्रह करते हुए कहा कि समाज को शिक्षित, नशा खोरी, दहेज प्रथा के साथ-साथ बेटियों के साथ भेदभाव जैसी कुरीतियों से मुक्त कराने के लिए जागृति फैलाने का कार्य करें। उन्होंने बताया कि देश के महापुरुष स्वामी विवेकानंद, पं. दीनदयाल उपाध्याय एवं संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जन्म शताब्दी के अवसर पर संघ इस वर्ष को सामाजिक समरसता के रूप में मनाते हुए समाज की जागृति के लिए अनेक कार्यक्रम किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब तक गांव में एक मंदिर, एक कुआं और एक श्मशान घाट होगा तभी सामाजिक समरसता का भाव पैदा होगा। इसीलिए संघ का प्रयास है कि उक्त तीनों स्थान सभी समाज के एक हों। आयोजन के दौरान विभिन्न समाज के 17 मुखिया ने अपनी सहभागिता दर्ज कराते हुए समाज की जागृति के लिए कृत संकल्पित हुए।

खबरें और भी हैं...