• Hindi News
  • National
  • 50 फीसदी घट सकता है सोयाबीन का रकबा

50 फीसदी घट सकता है सोयाबीन का रकबा

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिले में बुधवार रात 11 बजे से शुरू हुआ झमाझम बारिश का सिलसिला शुक्रवार को भी जारी रहा। शुक्रवार दाेपहर तक रिमझिम बारिश हुई। तीन बजे के बाद मौसम खुला। ठंडी हवा चलती रही। इधर अब किसान अच्छी बारिश के बाद खेतों में बोवनी के लिए बतर का इंतजार कर रहे हैं। इस बार मानसून देरी से सक्रिय होने के कारण जिले में सोयाबीन का रकबा 50 प्रतिशत कम होने की आशंका जताई जा रही है। किसान तीन सप्ताह पहले बारिश की दस्तक के बाद बोवनी कर चुके थे। लेकिन पानी नहीं आने से बोवनी बिगड़ गई। दूसरी बार उड़द बोई वह भी पानी नहीं आने से बिगड़ गई। 3-4 साल से किसान सोयाबीन खराब होने से परेशान हैं। इस कारण धीरे-धीरे फसल चक्र बदल रहा है। ऐसे में अभी तक एक लाख 30 हजार हेक्टेयर के विरुद्ध केवल 50 फीसदी भी सोयाबीन की बाेवनी नहीं हुई है।

जिले में चालू मानसून मौसम के दौरान गत एक जून से अब तक 243.2 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है। गत वर्ष की इसी अवधि की औसत वर्षा 473.5 मिमी थी। पिछले 24 घंटों में हरदा में 69.9 मिमी टिमरनी में 49.4 मिमी खिरकिया में 19.2 मिमी वर्षा दर्ज की गई है।

शुक्रवार को हुई रिमझिम बारिश।

खबरें और भी हैं...