जयंती पर हुआ कन्याभोज

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शोभायात्रा में गूंजे हर-हर नर्मदे के जयकारे
हर-हर नर्मदे से गूंज उठे नर्मदा घाट
नर्मदा जयंती के मौके पर रविवार को जिले के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में धार्मिक अनुष्ठान हुए। हरदा, टिमरनी, खिरकिया, रहटगांव, गोंदगांव गंगेश्वरी, हंडिया और नेमावर में कार्यक्रम हुए। जगह-जगह शोभायात्राएं निकाली गईं। हंडिया स्थित नर्मदा तट पर 501 मीटर चुनरी ओढ़ाई गई। पंचामृत से महाभिषेक के बाद जल मंच से दोपहर 12 बजे महाआरती हुई। इस मौके पर नर्मदे हर के जयकारों से क्षेत्र गूंज उठा। सुबह से लेकर देर शाम तक कार्यक्रम चलते रहे। इससे माहौल धर्ममय हो गया।

हंडिया में जयंती के मौके पर नर्मदा तटों पर रविवार को श्रद्धालुओं की खासी भीड़ रही। नर्मदा तटों पर दिन भर कार्यक्रम हुए। इसके चलते नर्मदा तट रह-रहकर नर्मदे हर के जयकारों से गूंज उठे। नर्मदा आश्रम में पांच क्विंटल पंचामृत से महाभिषेक किया गया। इसमें पांच क्विंटल दूध, पांच किलो शहद, शकर सहित अन्य सामग्री शामिल थी। रिद्धनाथ मंदिर तट पर जल मंच बनाया गया। सुबह दस बजे 51 नाव की सहायता से मां नर्मदा को 501 मीटर चुनरी ओढ़ाई गई। इस मौके पर विधायक डॉ. आरके दोगने उपस्थित थे। इसी तरह सड़क घाट पर आकर्षक जलमंच और मगर बनाया गया। श्रद्धालुओं ने आस्था के साथ मां नर्मदा की पूजा की। ढोल-नगाड़ों के साथ दोपहर 12 बजे जलमंच से मां नर्मदा की महाआरती की गई। इस मौके पर जोरदार आतिशबाजी की गई। इसके अलावा श्रद्धालुओं ने जोरदार जयकारे लगाए। मंगल धाम आश्रम, शिवकरुणा धाम आश्रम ने धूमधाम से मां नर्मदा की जयंती मनाई।

दीपदान कर सफाई का संकल्प लिया

रिद्धनाथ तट पर नर्मदा जयंती पर शाम को नार्मदीय ब्राह्मण समाज के लोगों ने बड़ी संख्या में नर्मदा में दीपदान किया। शाम होते ही नर्मदा में दीपदान का सिलसिला शुरू हो गया, जो देर रात तक चला। दीपदान के चलते नर्मदा का जल जगमगा उठा। इस मौके पर महिला और पुरुषों ने नर्मदा को प्रदूषण से मुक्त करने का संकल्प लिया।







इस बीच उन्होंने नर्मदा तट की सफाई भी की।

खिरकिया। नार्मदीय ब्राह्मण समाज ने नगर में शोभायात्रा निकाली।

हंडिया। जयंती महोत्सव में मां नर्मदा को ओढ़ाई गई चुनरी।

बच्चों ने दी सांस्कृतिक प्रस्तुतियां

टिमरनी|
नर्मदा जयंती पर रविवार रात को नार्मदीय धर्मशाला में बच्चों ने आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां देकर दर्शकों का मन मोह लिया। कार्यक्रम में डांस, गायन, नाटक आदि की प्रस्तुति दी।





कार्यक्रम में मुख्य अतिथि गणेश राजवैद्य, जगदीश नारायण जोशी मौजूद रहे। दो दिवसीय नर्मदा जयंती उत्सव का समापन विष्णु सहस्त्रनाम पाठ के साथ किया गया।

झाड़बीड़ा| नर्मदा के मंदिर में रविवार को नर्मदा जयंती पर कन्या भोजन हुआ। इसमें कन्याओं काे भोजन कराया गया। जयंती पर सुबह से ही मंदिर में खासी भीड़ रही। इस मौके पर हवन-पूजन और महाआरती हुई। इसके बाद प्रसादी वितरण हुआ। कार्यक्रम में मंदिर के संस्थापक दशरथ वर्मा सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे।













इसी तरह गांव पोखरनी में भारतीय बाबा की ओर से नर्मदा जयंती पर कन्या भोज हुआ। इस दौरान आरती-पूजन भी किया गया।



मंदिर में हुई प्रतिमा स्थापना

रहटगांव|
पानतलाई में रविवार को मंदिर में मां नर्मदा की प्रतिमा स्थापना समारोह पूर्वक की गई। धार्मिक कार्यक्रम हुए। विधि-विधान के साथ प्रतिमा स्थापना हुई। इसके बाद महाआरती और प्रसादी वितरण हुआ।







इसमें लोग शामिल हुए।

-------

नर्मदा जयंती पर भजन-कीर्तन हुए

बालागांव|
नर्मदा जयंती पर रविवार को महिलाओं ने गांव के मंदिर में भजन-कीर्तन किए। इस दौरान मां नर्मदा को चुनरी ओढ़ाई गई। प्रभाबाई, किरण बाई सहित अन्य महिलाओं ने धूमधाम से जयंती मनाई। शाम सात बजे महाआरती के बाद प्रसादी वितरण हुआ।









इसमें ग्रामीण शामिल हुए।

टिमरनी। क्षेत्रीय नार्मदीय ब्राह्मण संस्था ने पुण्य सलिला मां नर्मदा की जयंती मनाई। नार्मदीय धर्मशाला से सुबह दस बजे बैंड-बाजे के साथ शोभायात्रा निकाली गई। ट्रैक्टर ट्राॅली पर रखे नर्मदा जल से भरे कलश का जगह-जगह पूजन किया गया। इस दौरान मां नर्मदा की सजीव झांकी आकर्षण का केंद्र रही। धर्मध्वजा के साथ निकली शोभायात्रा शीतला माता मार्केट, मोरवाली बिल्डिंग, अग्रवाल भवन, भैरू बाबा मंदिर, गांधी चौक, मंडी रोड़ होते हुए वापस धर्मशाला पहुंची। यहां कलश स्थापना कर पूजन और आरती कर प्रसाद वितरण किया गया। इस दौरान नार्मदीय ब्राह्मण समाज के रामकृष्ण बलबटे, रामगोविंद बिल्लौरे, पांडुरंग पटेल, रमेश काशिव, नाथूराम पाराशर, हरिशंकर पगारे, कमलेश जोशी आदि मौजूद थे।







मौजूद थ्ेंंमहेश राजवैद्य, जेएन जोशी, लक्ष्मीकांत जोशी, मनोहर बरसले सहित समाज के लोग मौजूद थे।

धर्मध्वजा के साथ निकली शोभायात्रा
नर्मदा जयंती पर हुए सांस्कृतिक कार्यक्रम


हरदा| नर्मदा जयंती पर शहर में धार्मिक और सांस्कृतिक कार्यक्रम हुए। अनेक लोग नर्मदा का पूजन कर दीपदान करने तथा चुनरी ओढ़ाने रेवा तट पहुंचे। दिनभर हवन भजन और भंडारों का सिलसिला चलता रहा।दाे दिनी नर्मदा जयंती उत्सव के दौरान रविवार को नार्मदीय धर्मशाला में धार्मिक व सांस्कृतिक कार्यक्रम हुए। दिन में नर्मदाष्टक और विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ हुआ। शाम को हुए सांस्कृतिक आयोजनों में हर आयु वर्ग के प्रतिभागियों ने कला का प्रदर्शन किया। इधर कोर्ट के पास हनुमान मंदिर में चार साल पहले जोशी परिवार द्वारा स्थापित नर्मदा मूर्ति के समक्ष हवन पूजन व अभिषेक हुआ। गाडरी मंदिर में भी दिनभर कार्यक्रम तथा कन्या भोज का आयोजन चला।









नर्मदा में स्नान और पूजन अभिषेक कर चुनरी ओढ़ाने व दीपदान करने भी लोग हंडिया नेमावर पहुंचे।

खबरें और भी हैं...