पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • गुरु नानक देव की जयंती मनाई

गुरु नानक देव की जयंती मनाई

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गुरु नानक देव की जयंती मनाई

एक नूर ते सब जग उपज्या...

रतलाम | गुरुनानक देवजी की जयंती गुरुवार को प्रकाश पर्व के रूप में मनाई गई। न्यू रोड स्थित सिख गुरुद्वारे में दिनभर कीर्तन हुआ। समाजजन ने मत्था टेक गुरु की स्तुति की। सिंधी समाज के गुरुद्वारे में सत्संग, भजन, शबद कीर्तन हुए। इसके बाद चल समारोह निकला। इसमें श्री राम धुनी बहिराणा मंडली के भजनों पर समाजजन झूम उठे।

न्यू रोड स्थित सिख गुरुद्वारे में मत्था टेकने के लिए सुबह से ही समाजजन की भीड़ थी। सुबह शबद कीर्तन हुआ। अमृतसर के सुखविंदरसिंह, ज्ञानी मानसिंह जीवनसिंह ने कीर्तन किया। दोपहर में अरदास हुई। इसके बाद लंगर। संध्या फेरी निकली जिसमें समाजजन झूमते-गाते निकले। जगह-जगह स्वागत हुआ। संध्या फेरी विभिन्न मार्गों से होती हुई गुरुद्वारा में विसर्जित हुई। रात को जन्मोत्सव मनाया।

‘धनगुरु नानक सारा जग वारियां\\\' से गूंजा- सिंधीसमाज ने न्यू रोड स्थित गुरुद्वारा से चल समारोह निकाला। इसमें आगे गुरुग्रंथ साहब की सवारी थी तो पीछे भजन पेश करती श्री राम धुनी बहिराणा मंडली। चल समारोह में ‘धन गुरु नानक सारा जग वारियां...\\\', ‘भले आए नानक शाह...’ जैसे भजनों पर समाजजन झूमते रहे। चल समारोह शहर के विभिन्न मार्गों से होता हुआ गुरुद्वारा पर विसर्जित हुआ। रात को धूमधाम से प्रकाशोत्सव मनाया। आर.बी. आॅइलदासानी, भजनलाल परमानी, आनंद कृष्णानी, भगवानदास त्रिलोकचंदानी, चंदू शिवानी, देवानंद खत्री, रमेश नाथानी, मनोज पोपटानी सहित समाजजन मौजूद थे।

प्रभातफेरीनिकली, आतिशबाजी की - सिंधीकॉलोनी स्थित झूलेलाल मंदिर से प्रभातफेरी निकली। इसमें समाजजन झूमते गाते निकले। प्रभातफेरी का फूलों की रंगोली और आतिशबाजी से स्वागत किया गया। समापन गुरुद्वारे में हुआ। संत कंवरराम सिंधु सेवा समिति के रमेश आस्वानी, राजू परियानी, दिलीप सोपनानी, गोविंदराम रख्यानी, हेमंत डबरानी, विनोद करमचंदानी, देवानंद करमचंदानी, गोविंद वाधवानी, दीपक केवलानी, नरेश धनवानी, बल्लू लालवानी आदि मौजूद थे।

प्रभातफेरीनिकली- टीआईटीरोड स्थित दादी कुंदी दरबार से भी प्रभातफेरी निकली। समाजजन ने आतिशबाजी की। रतलाम सिंध समाज सेवा समिति अध्यक्ष रामचंद्र लालचंदानी, मुरली फूलवानी, गिरीश वाधवानी, हेमू गणेशवानी, कमलेश गणेशवानी आदि मौजूद थे।