• Hindi News
  • Mp
  • Ratlam
  • सरकारी स्कूल में 106 से ज्यादा बच्चे होने पर ही संस्कृत की पढ़ाई हो सकेगी
--Advertisement--

सरकारी स्कूल में 106 से ज्यादा बच्चे होने पर ही संस्कृत की पढ़ाई हो सकेगी

Ratlam News - सरकारी स्कूलों में युक्तियुक्तकरण की तैयारी चल रही है। इस बार यह एजुकेशन पोर्टल के माध्यम से होगा। इसके लिए...

Dainik Bhaskar

Apr 18, 2017, 04:40 AM IST
सरकारी स्कूल में 106 से ज्यादा बच्चे होने पर ही संस्कृत की पढ़ाई हो सकेगी
सरकारी स्कूलों में युक्तियुक्तकरण की तैयारी चल रही है। इस बार यह एजुकेशन पोर्टल के माध्यम से होगा। इसके लिए पोर्टल पर ई पासबुक अपडेट की जा रही है। इसमें स्थानीय अधिकारियों की भूमिका सिर्फ समन्वय और मॉनिटरिंग भर रह जाएगी।

स्कूलों में बच्चों की संख्या के मान से शिक्षकों की नियुक्ति की जाना है। इसके लिए युक्तियुक्तकरण की प्रक्रिया शुरू होने वाली है। शिक्षा विभाग ने जो सेटअप लागू किया है। उसके मुताबिक माध्यमिक विद्यालय में पहला पद गणित विषय का, दूसरा सामाजिक विज्ञान, तीसरा अंग्रेजी भाषा, चौथा पद 106 से अधिक दर्ज होने पर संस्कृत ,141 से अधिक दर्ज होने विज्ञान (जीव विज्ञान) और 176 से अधिक दर्ज होने पर हिंदी विषय का रहेगा। कई स्कूलों में बच्चों की संख्या 100 से भी कम है। विभाग के पास अंग्रेजी के शिक्षकों की भी कमी है। गिने चुने शिक्षक ही हैं। इसी तरह गणित पढ़ाने वाले शिक्षकों की भी यही स्थिति है। इससे कई स्कूलों में शिक्षकों की संख्या एक या दो रह जाएगी। वहीं जिन स्कूलों में 100 बच्चे हैं तो वहां तीन पद ही रहेंगे। संस्कृत, हिंदी और सामाजिक विज्ञान के शिक्षक नहीं मिल सकेंगे।

युक्तियुक्तकरण के बाद तबादले

युक्तियुक्तकरण के बाद तबादले भी होंगे। तबादले जिले अनुसार होंगे। ये भी पोर्टल के आधार पर होंगे। जिले के अंदर तबादले नहीं होंगे। जो भी तबादले होंगे वे अन्य जिलों में ही होंगे। जल्द इसके भी आदेश जारी किए जाएंगे।

X
सरकारी स्कूल में 106 से ज्यादा बच्चे होने पर ही संस्कृत की पढ़ाई हो सकेगी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..