पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • ‘भावों की शुद्धि ही आराधना का फल है, सदैव अपने भावों को शुद्ध रखें’

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

‘भावों की शुद्धि ही आराधना का फल है, सदैव अपने भावों को शुद्ध रखें’

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जयंतसेन धाम में राष्ट्रसंत विजय जयंतसेन सूरीश्वरजी से सोमवार को कई श्रीसंघों ने मिच्छामि दुक्कड़म कर आशीर्वाद लिया। इस मौके पर चातुर्मास आयोजक व राज्य योजना आयोग उपाध्यक्ष चेतन्य काश्यप परिवार की ओर से सिद्धार्थ काश्यप ने संघपतियों का बहुमान किया। राष्ट्रसंत ने कहा कि भावों की शुद्धि ही आराधना का फल है, इसलिए सदैव अपने भावों को शुद्ध रखें। भाव अच्छे रहने पर ही जीवन में सार्थकता मिलेगी। जैसे तन की शुद्धि जरूरी है, वैसे ही शुभ भाव रखकर मन की शुद्धि आवश्यक है। इंदौर श्रीसंघ, नीमच सिटी, भाटपचलाना, रिंगनोद (धार), राजगढ़ और ख्वासा श्रीसंघ के सदस्यों ने राष्ट्रसंत से आशीर्वाद लिया। धर्मसभा पंडाल में चातुर्मास आयोजक परिवार की ओर से तेजकुंवरबाई काश्यप व नीता काश्यप ने मासक्षमण तपस्वी श्वेता-संदीप वोरा व नीमच संघपति सुनीता चौधरी का बहुमान किया। दादा गुरुदेव की आरती का लाभ चांदमल चंपालाल इमलीवाला (रिंगनोद) ने लिया।

मुनिराज निपुणर| विजयजी ने धर्मसभा में कहा कि मनुष्य का जीवन मूल्यवान है। इसका एक-एक पल कीमती है लेकिन उसका सदुपयोग तभी हो सकता है, जब इसके मूल्य का ज्ञान हमें हो। विडंबना है कि सबको नश्वर पदार्थों का मूल्य पता है, इसलिए सभी उसे संभालने में जीवन का ना जाने कितना समय व्यर्थ गंवा देते हैं। मानव भव में जो मोक्ष प्राप्त हो सकता है, उसे भूलकर मूल्यवान जीवन में राग-द्वेष, दुर्भाव आदि गलत भावों का आचरण कर जीवन समाप्त कर देते हैं। उन्होंने उत्तराध्ययन सूत्र का वाचन करते हुए कहा कि सोने की थाली में विष भरने वाले को मूर्ख कहा जाता है, वैसे ही मानव जीवन में धर्म को भूलने वाला भी मूर्खों की गिनती में आता है। वर्तमान में धर्म करने के लिए ही बल की आवश्यकता है, पाप करने में नहीं। हर मनुष्य को पाप छोड़कर धर्म का अनुसरण करने का पुरुषार्थ करना चाहिए।

धर्म के बिना निष्फल होता है जीवन : निपुणर| विजयजी
जयंतसेन धाम में राष्ट्रसंत से आशीर्वाद लेते श्रीसंघ के सदस्य।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति पूर्णतः अनुकूल है। बातचीत के माध्यम से आप अपने काम निकलवाने में सक्षम रहेंगे। अपनी किसी कमजोरी पर भी उसे हासिल करने में सक्षम रहेंगे। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और...

    और पढ़ें