पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • ट्रांसपोर्टरों के फायदे के लिए 40% तक बढ़ाई ढुलाई दर

ट्रांसपोर्टरों के फायदे के लिए 40% तक बढ़ाई ढुलाई दर

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्याज खरीदी में कमीशन का घोटाला सामने आने के बाद नई परतें खुलने लगी हैं। नागरिक आपूर्ति निगम के तत्कालीन एमडी फैज अहमद और गिरफ्तार जीएम श्रीकांत सोनी ने मनमाने तरीके से प्याज के परिवहन की दरें पहले 25 फीसदी और फिर 40 फीसदी तक बढ़ा दी। इतना ही नहीं, मुख्यालय स्तर पर बुलाए गए ऑनलाइन टेंडरों में तो कोई खरीदार नहीं आया, लेकिन जिलों में मैनुअल टेंडर की प्रक्रिया अपनाई गई और व्यापारियों व ट्रांसपोर्टरों को जमकर लाभ पहुंचाया गया। खरीदारों ने मिलजुलकर सस्ते दामों में प्याज की खरीदी की। हैरान करने वाली बात है कि पूरे प्रदेश में बेची गई प्याज की औसत कीमत 2 रुपए 45 पैसे प्रतिकिलो ही रही। जिस शाजापुर से रेलवे रैक का सौदा करवाने के चक्कर में सोनी फंसे, वहां ट्रक, रेलवे रैक और गोदामों से एक ही कीमत यानी 3016 रुपए टन (दस क्विंटल) में प्याज बेच दी गई।

तत्कालीन एमडी की सफाई... मार्कफेड की दरों से कम
दो बार ट्रांसपोर्टर के रेट किस आधार पर बढ़ाए गए, इसकी जानकारी तत्कालीन एमडी फैज अहमद किदवई से फोन पर ली गई। फैज इस समय अमेरिका में हैं। सूत्रों के अनुसार उन्होंने सफाई दी है कि पहले 25 और बाद में 40 फीसदी तक दरें बढ़ाईं, लेकिन यह मार्कफेड की प्रचलित दरों से कम हंै। पिछले साल खरीदी गई प्याज के परिवहन में जो दर थी, इस बार परिवहन की दर उससे कम है।

ट्रांसपोर्टेशन का गणित ऐसे समझें
धार... 18 क्विंटल प्याज के आंकड़े नहीं, रतलाम... एक व्यक्ति ने पांच बार बेची प्याज
खबरें और भी हैं...