--Advertisement--

अच्छी खबर

रतलाम आती रहेंगी उज्जैन की ट्रेनें, बदला निर्णय भास्कर की मुहिम रंग लाई, रतलाम विकास मंच ने डीआरएम ल....

Dainik Bhaskar

Jun 21, 2015, 06:15 AM IST
अच्छी खबर
रतलाम। उज्जैन-रतलाम के बीच आने-जाने वाले यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। रेलवे ने 22 जून से रतलाम-उज्जैन के बीच तीन जोड़ी ट्रेनें रतलाम से बंद करने का निर्णय वापस ले लिया है। ट्रेनें बंद करने के निर्णय को लेकर यात्री हित में भास्कर ने मुहिम चलाई थी। इसमें रतलाम विकास मंच के साथ शहर के कई संगठन आगे अाए थे।
शनिवार को मामले में डीआरएम को ज्ञापन सौंपकर ट्रेनें यथावत रखने की मांग की। इसके बाद रेल अफसर सक्रिय हुए और शाम को ट्रेनों का संचालन आगामी आदेश तक यथावत रखने का निर्णय किया।

17 जून को रेलवे ने अचानक रतलाम से उज्जैन जाने वाली नागदा-इंदौर पैसेंजर (59387), इंदौर-नागदा पैसेंजर (59388), नागदा-उज्जैन पैसेंजर (59317), बीना-नागदा पैसेंजर (59342), उज्जैन-भोपाल पैसेंजर (59319) व भोपाल-उज्जैन पैसेंजर (59320) का संचालन 22 जून से बंद करने का निर्णय लिया था। इसमें बताया था इंदौर-रतलाम आमान परिवर्तन के कारण ट्रेनों को रतलाम तक चलाया था।
अब इंदौर-रतलाम ट्रैक चालू होने के कारण ट्रेनों को नागदा तक ही चलाया जाएगा। शनिवार को रतलाम विकास मंच के सदस्यों ने संयोजक महेंद्र गादिया व जिपं उपाध्यक्ष डी.पी. धाकड़ के नेतृत्व में डीआरएम ल. वेंकटरामन से मुलाकात की। ज्ञापन सौंपते हुए सदस्यों ने उन्हें यात्रियों व व्यापारियों को होने वाली समस्याएं बताई।
कहा कुछ माह बाद सिंहस्थ है और ऐसे में ट्रेनों का संचालन रतलाम से बंद कर नागदा तक ही रखना उचित नहीं है। यह भी बताया रतलाम, उन्हेल, नागदा, खाचरौद सहित अासपास के कस्बे के हजारों युवा नौकरी के लिए रोज इन्हीं ट्रेनों से रतलाम-उज्जैन आते-जाते हैं। ट्रेनें बंद होने से युवा बेरोजगार हो जाएंगे। डीआरएम ने इस संबंध में वरिष्ठ अफसरों से बात करने का आश्वासन दिया। यह भी कहा वे ज्ञापन अफसरों को भेजेंगी।
ज्ञापन देते समय मंच के मनोज शर्मा, शेरू पठान, कांतिलाल छाजेड़, मनोज झालानी, मधु शिरोड़कर, प्रभु नेका, प्रशांत व्यास, संजय पारख, मुकेश गांधी, शरद जोशी, प्रदीप डांगी, विशाल शर्मा, राजेंद्र दरड़ा, विप्लव जैन, कपिल व्यास, राजेश पुरोहित, शांतू गवली, बाबूलाल बंधवार, निर्मल पाटीदार, कैलाश जोशी, अभिषेक शर्मा, सौरभ नाहर, हेमंत कोठारी, प्रितेश गादिया, मयंक जैन आदि उपस्थित थे।

विधायक भी पहुंचे- इधर सुबह करीब 11 बजे विधायक चेतन काश्यप डीआरएम से मिलने पहुंचे और ट्रेनें बंद नहीं करने की मांग की। उन्होंने रेल मंत्री के नाम का एक ज्ञापन भी सौंपा।
X
अच्छी खबर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..