पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • पन्ना में दो निर्माणाधीन बांध फूटे, गांव खाली कराए

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पन्ना में दो निर्माणाधीन बांध फूटे, गांव खाली कराए

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पथरिया में डेम भरा, सुनार नदी में छोड़ना पड़ा पानी
नदियां उफनीं, बांध फूटे, पुल बहे, रास्ते बंद
छतरपुर में डायवर्सन मार्ग बहा, लोग फंसे
सड़क के ऊपर से बहा घसान नदी का पानी
हटा में सुनार के पानी में डूब गया घर
बांदकपुर में मंदिर की पहली सीढ़ी तक पहंुचा पानी
नदी उफान पर फिर भी जान की परवाह नहीं
धसान नदी उफान पर, दोनों ओर लगा जाम
कई गांवों में बिगड़े हालात, सरकारी स्कूलों में लगवाए गए राहत शिविर

दमोह|
देर शाम फिर से बारिश प्रारंभ होने से नदी और नालों मंे बहाव बढ़ गया। सुनार व व्यारमा नदी का जलस्तर बढ़ने से प्रशासन ने आसपास के गांव खाली करा दिए हैं। अब तक दो दर्जन से ज्यादा गांव खाली करा दिए गए हैं। हटा क्षेत्र में डीबर गांव के पूरी तरह से खाली करा लिया गया है। वहीं मोठा गांव में भी नदी का पानी आने से गांव को खाली कराया गया है। यहां के लोगों को आसपास के गांव के स्कूलों में ठहराया गया है। वहीं अदनबारा, मुहरई, बंधा बरखेरा, जेरठ, कांटी , महूना, मोठा, मडिया, बरोदा, हिंगवानी सहित एक दर्जन गांव चारों ओर से पानी से घिर गए हैं। प्रशासन द्वारा इन गांव के लोगों को भी सुरक्षित स्थानों पर पहंुचाने के प्रयास शुरू कर दिए हैं। जिन्हें आसपास के गांव के सरकारी स्कूलों में रूकवाया जाएगा। इसी तरह कोपरा गांव को भी खाली करा दिया गया है।

स्कूलों में रुकवाया

बाढ़ की स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने हटा नगर के अनेक शासकीय स्कूलों में राहत शिविर लगाए हैं। जहां पर डीवर सहित आसपास के गांव के लोगों को रूकवाया गया है। यहां पर एक बारात को भी रूकवाया गया। वहीं नरसिंहगढ़ क्षेत्र के मोठा व भटेरा गांव के करीब एक सैकड़ा लोगों को नरसिंहगढ़ के सरकारी स्कूल में ठहराया गया है। गुरूवार की शाम करीब पांच ट्रेक्टर ट्रालियों में एक सैकड़ा से अधिक लोग नरसिंहगढ़ पहंुचे। वहीं देर शाम तक कई लोग अपने मवेशियों गाय, भैंस लेकर नरसिंहगढ़ पहंुचे। जहां पर प्रशासन द्वारा ठहरने व खाने की व्यवस्था की जा रही है। वहीं बकायन नाला के आसपास के मकानों में रहने वाले लोगों ने बकायन के हनुमान मंदिर में शरण ली है।

पिछले तीन दिनों से जारी झमाझम बारिश से पगारा डेम पूरी तरह से भर गया है। पहली ही बारिश में नवनिर्मित पुल में इतना अधिक पानी आ गया है कि प्रशासन को इसका पानी छोड़ना पड़ा, अन्यथा डेम के लिए खतरा बन सकता था।

बुंदेलखंड में लगातार बारिश लोगों के िलए अब आफत बन गई है। सुनार, व्यारमा, धसान सहित कई नदियों का जलस्तर बढ़ता ही जा रहा है। पुल टूट रहे हैं, रास्ते बंद होने से लोग फंसे हैं। छतरपुर, टीकमगढ़ और दमोह जिले में एक जैसे हालात हैं।

छतरपुर: कई अन्य जिलों का संपर्क टूट

छतरपुर|जिले
में लगातार तीसरे दिन भी झमाझम बारिश होती रही। इससे छतरपुर से कई अन्य जिलों का संपर्क टूट गया। नदियां उफान पर होने के कारण मुख्य मार्ग बंद हुए और वाहनों की लंबी कतारें लगी रही। वहीं सागर छतरपुर मार्ग पर गुलगंज के पास चौरपरईयां स्थित डायवर्सन पुल बह जाने से नेशनल हाइवे बंद रहा। वहीं बिजावर से घूमकर सिर्फ यात्री बसें छतरपुर पहुंच रही थी। शहर में हल्की बारिश हुई, लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में गुरुवार को झमाझम बारिश हुई है।

टीकमगढ़ में 48 घंटे से बारिश जारी,
टीकमगढ़| मानसून की मेहरबानी 48 घंटे से जारी है। एक सप्ताह पहले तक पानी के लिए तरस रहे लोग अब बारिश के पानी से परेशान होने लगे हैं। शहर में पानी निकासी के इंतजाम न होने से लोगों की मुसीबत बढ़ी है। गुरुवार को शहर के कई इलाके जलमग्न हो गए। सड़क और नालियां न होने से घरों के चारों ओर पानी भर गया। बड़े नालों पर अतिक्रमण है। सही ढंग से सफाई भी नहीं की गई। इससे बारिश के पानी की निकासी नहीं हो पा रही है। मौसम विभाग के अलर्ट के कारण कलेक्टर ने रविवार तक सरकारी और प्राइवेट स्कूलों की छुट्टी करने के निर्देश जारी किए हैं।

दमोह में बाढ़ जैसे हालात, अलर्ट जारी किया

दमोह|जिले
में तीन दिन से निरंतर बारिश होने से बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं। बटियागढ़ में दो दर्जन से ज्यादा घर बहाव के पानी से घिर गए हैं। लोगों को घरों से बाहर निकाला गया है। कुछ इसी तरह की स्थिति हटा में बनी हुई है। सुनार नदी में तेजी से पानी बढ़ने के कारण आसपास के ग्रामों में पानी भर गया है। कलेक्टर डॉ. श्रीनिवास शर्मा ने गुरूवार को तहसील हटा पहुंचकर सुनार नदी का अवलोकन कर बाढ़ की स्थिति का जायजा लिया। एसडीएम को अलर्ट रहने के निर्देश दिए। निरंतर हो रही बारिश अब मुसीबत बन गई है।

बेतवा नदी में 30 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा

ओरछा |
बुंदेलखंड क्षेत्र में लगातार तीन दिनों से हो रही बािरश के चलते यूपी के माताटीला बांध में जल स्तर बढ़ गया है। गुरुवार को माताटीला बांध से बेतवा नदी में 30 हजार क्यूसेक पानी छाेड़ा गया। ओरछा तहसीलदार गुलाब सिंह बघेल ने बताया कि दोपहर में माताटीला डेम के अधिकारियों ने इसकी सूचना दी।

छतरपुर में डायवर्सन मार्ग के ऊपर से बहता हुआ पानी।

टीकमगढ़। बड़ागांव के पास धसान नदी का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है।

हटा में गुरुवार की शाम हटा से निकली सुनार नदी में जलस्तर बढ़ने से आसपास के घर डूब गए।

करौंदी नाला का बाढ़ग्रस्त पानी गुरूवार को भगवान जागेश्वरनाथ मंदिर की पहली सीढ़ी तक पहुंच गया।

बनवार में धुनगी नाला पर करीब दो फीट पानी होने के बाद भी लोग अपनी जान जोखिम में डालकर निकले।

पन्ना : लगातार बारिश से इटवाखास के पास निर्माणाधीन सिरस्वाहा बांध फूट गया। वहीं दूसरी ओर उसी के पास बन रहा बिलखुरा बांध के भी फूट गया है। इन बांधों के फूटने से सिरस्वाहा गांव के घरों में पानी भर गया है। जल संसाधन विभाग के द्वारा 32 करोड़ रुपए की लागत से सिरस्वाहा बांध का निर्माण किया गया है। इस बांध से 1700 हेक्टेयर कृषि भूमि सिंचित होगी।जल संसाधन विभाग के पन्ना के कार्यपालन यंत्री धीरेन्द्र खरे ने बताया कि बांध टूटने की खबर मिलते ही वे भी तत्काल मौके पर पहुंचे। बांध टूटने से लगभग दो दर्जन घर गिरे है। श्री खरे ने बताया कि जान माल की अभी तक कोई हानि नहीं हुई है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

और पढ़ें