पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • कोऑपरेटिव बैंक में ज्वाइनिंग से पहले लगी रोक, भूमि विकास बैंक भी बंद

कोऑपरेटिव बैंक में ज्वाइनिंग से पहले लगी रोक, भूमि विकास बैंक भी बंद

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
घाटे के चलते बंद किए गए जिला भूमि विकास बैंक के कर्मचारी अपनी सेवाएं कोऑपरेटिव बैंक में अभी तो नहीं दे सकेंगे। ज्वाइनिंग के लिए इन्हें हाईकोर्ट का स्टे ब्रेकेट होने का इंतजार करना होगा। भूमि विकास बैंक के कर्मचारियों के संविलियन के विरुद्ध याचिका दायर करने वाले लोग कोऑपरेटिव के अस्थाई कर्मचारी हैं। इनकी मांग है कि उन्हें नियमित किया जाए। इसके बाद रिक्त पदों पर भूमि विकास बैंक कर्मियों का संविलियन हो।

ये रोक पिछले दिनों उस समय लगी जब भूमि विकास के कर्मचारियों के संविलियन की प्रक्रिया अंतिम चरण में पहुंच चुकी थी। जिले में भूमि विकास बैंक के 17 कर्मचारियों को को-ऑपरेटिव बैंक प्रबंधन ने अपने अमले में शामिल करने की पूरी तैयारी कर ली थी। इसके साथ इनके मन में हर महीने वेतन मिलने की उम्मीद जागी थी। 30 जून को बंद हुए भूमि विकास बैंक के कर्मचारियों को पिछले एक साल से वेतन नहीं मिला है। लेकिन उनसे वसूली का काम लिया जा रहा था।

यह है वजह
शासन ने जिस समय बैंक को बंद करने का फैसला लिया था। उस दौरान किसानों से बकाया राशि यानी मूलधन 3 किस्तों में जमा करने का प्रावधान किया गया था। लेकिन बैंक कर्मियों ने मूलधन की वसूली नहीं की तो उनका वेतन रोक दिया गया। बैंक प्रबंधन किसी भी कर्मचारी का भुगतान करने को तैयार नहीं था। पिछले एक साल से रुके वेतन के मुद्दे पर सरकार ने अभी कोई निर्णय नहीं लिया है।

खबरें और भी हैं...