• Hindi News
  • सागर राहगीरी में वेलेंटाइन डे पर झील किनारे बही वासंती बहार

सागर राहगीरी में वेलेंटाइन-डे पर झील किनारे बही वासंती बहार

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राहगीरी के 30वें आयोजन में जुटे लोग

झील में बोटिंग तो मंच से कविताओं का लुत्फ लेते रहे लोग

भास्कर संवाददाता | सागर

लगातार 30वें रविवार की सुबह सागर राहगीरी के नाम ही रही। रविवार का दिन, मौसम में हल्की-सी ठंडक और खुशनुमा माहौल, वासंती मौसम एक बार फिर शहरवासियों खींच लाया संजय ड्राइव पर होने वाली राहगीरी में। संजय ड्राइव पर सागर राहगीरी में शामिल हुए लोगों ने मौज-मस्ती और खुशनुमा सुबह के साथ अपने दिन की शुरुआत की। रविवार को वैलेंटाइन-डे होने के चलते वंसतोत्सव मनाया गया। राहगीरी के मंच से शायर अशोक मिजाज, कवि निर्मलचंद निर्मल, कवयित्री निरंजना, अनिल जैन, आदि ने प्रेम रस से भरी अपनी कविताएं मंच से पढ़कर सभी की तालियां बटोरीं। लोक गायक कपिल चौरसिया ने अपनी टीम के रमेश चौरसिया एवं गणेश चौरसिया के साथ शानदार प्रस्तुति दी। इसके अलावा लोगों ने घुड़सवारी और साइकिल की सवारी का लुत्फ उठाया। बोटिंग भी जमकर हुई। स्टेज से कई लोगों ने माइक थाम कर अपनी आवाज का जादू बिखेरा। बच्चे, बढ़ों के साथ बजुर्गों ने भी गीत गुनगुनाए।

झील में बाेटिंग, गाजर घास उन्मूलन कार्यक्रम
सागर राहगीरी के दौरान लोगों ने उत्साह के साथ ऐतिहासिक लाखा बंजारा झील में बोटिंग की। बड़ी संख्या में एक साथ बोट झील में चलीं। इसके साथ ही पैडल बोट से भी लोगों ने झील में बोटिंग की। लोगों ने झूलों का भी जमकर लुत्फ उठाया। वहीं पंचवटी बहुउद्देशीय गोपाल वनोत्थान परियोजना समिति द्वारा गाजर घास उन्मूलन पर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। विजेताओं काे उपहार स्वरूप पौधे दिए गए। समिति के अध्यक्ष कृषक जितेंद्र चौरसिया एवं पुष्पेंद्र तिवारी आदि ने लोगों को पर्यावरण से जुड़ी जानकारी दी।

बोरा दौड़ का रोमांच

द हेल्प ग्रुप द्वारा कराई गई बोरा दौड़ में बड़ी संख्या में लोगों ने सहभागिता की। खूब इंजॉय किया। लोगों में इस गेम को लेकर बेहद उत्साह देखने को मिला। खासकर बोरा दौड़ में। हर वर्ग के लोगों ने इसमें हिस्सा लिया। ग्रुप के शिवा योगी ने बताया कि अगली बार से हम कुछ नया करेंगे।

ग्रीटिंग कार्ड बनाए, प्रतियोगिता भी हुई

राहगीरी में आने वाले लोगों को मौज-मस्ती के बीच कागज से विभिन्न प्रकार के फूल, लैंप, ग्रीटिंग कार्ड बनाना भी सिखाया गया। एंक आर्ट गैलरी के अंकित केशरवानी द्वारा यह प्रशिक्षण मुफ्त में दिया गया। उन्होंने प्रिंट आदि के माध्यम से विभिन्न प्रकार की आर्ट तैयार करना सभी को सिखाया। जैन शिक्षा समृद्धि की कांति जैन ने विभिन्न प्रतियोगिताएं कर प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया।

जागरुकता...गाजर घास उन्मूलन प्रतियोगिता भी हुई।

हस्त शिल्प..राहगीरी में बच्चों ने ग्रीटिंग कार्ड बनाने सीखे।

लोकगीत गूंजे..राहगीरी मेंे मंच पर लोकगीत भी गूंजते रहे

काव्य पाठ...राहगीरी के मंच पर काव्यपाठ भी हुआ।

ऐ राहगीरी है...सागर राहगीरी के 30वें आयोजन में इस बार हजारों की संख्या में पहुंचे युवाओं ने जमकर मौज-मस्ती की।