• Hindi News
  • मंच पर युवतियां खुलकर बोलीं तो कई युवक झिझकते नजर आए

मंच पर युवतियां खुलकर बोलीं तो कई युवक झिझकते नजर आए

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
विशिष्ट अतिथि जिला कोऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष राजेंद्र जारौलिया ने कहा कि संगठन का यह कार्यक्रम सराहनीय है। इससे सुयोग्य जीवन साथी चयन में लोगों को मदद मिलेगी। अध्यक्षता कर रहे जिलाध्यक्ष देवी प्रसाद दुबे ने कहा कि मुख्य अतिथि मंत्री भार्गव की मंशानुसार जल्दी ही जिले में बड़े स्तर पर समाज का विवाह सम्मेलन होगा। डाॅ. एनपी शर्मा ने कहा कि यह आयोजन सशक्त माध्यम है, जहां सभी एक मंच पर अपनी बात रख सकते हैं। पूर्व निगमाध्यक्ष संतोष पांडे ने कहा विप्र वैवाहिक पुस्तिका में प्रथम से लेकर अंतिम पंक्ति तक के विवाह योग्य बायोडेटा संलग्न है, जिसमें घर बैठे सुयोग्य वर-वधु चुन सकेंगे। एसवीएनयू के संस्थापक कुलपति डाॅ. अनिल तिवारी ने कहा समाज जन एक दूसरे का सहयोग कर आगे बढ़ें। साथ ही दृढ़ संकल्प के साथ एक दूसरे का सहयोग करें। पूर्व निगम अध्यक्ष त्रिलोकी नाथ कटारे, शुकदेव प्रसाद तिवारी, जेपी पांडे, प्रो. अखिलेश पटैरिया, विनोद तिवारी बोबई, रामप्यारे दुबे, एके शर्मा, रामावतार पांडेय आदि ने भी संबोधित किया। भाजपा जिला अध्यक्ष राजा दुबे भी मौजूद थे। संचालन एमडी त्रिपाठी एवं शिवशंकर मिश्रा ने किया। आभार नीरज पांडेय एवं आशीष गोस्वामी ने माना।

पत्रिका से सुयोग्य जीवनसाथी चयन में मिलेगी मदद
सागर. सर्व ब्राम्हण समाज द्वारा आयोजित परिचय सम्मेलन के दौरान समाज की वैवाहिक पुस्तिका का विमोचन करते अतिथि।

सागर. सर्व ब्राम्हण समाज द्वारा आयोजित परिचय सम्मेलन में मंच से परिचय देती युवतियां और युवक।

भास्कर संवाददाता | सागर

युवक-युवती परिचय सम्मेलन आज के समय में सुयोग्य जीवन साथी चयन का सशक्त माध्यम बन गया है। इससे न सिर्फ पैसों की बचत होती है, बल्कि एक ही मंच पर कई रिश्ते भी तय हो जाते हैं। इस प्रकार के आयोजन होते रहना चाहिए। संगठन को चाहिए कि सागर जिले में बड़े स्तर पर विवाह सम्मेलन का आयोजन भी किया जाए। जिससे समाज के हर तबके के लोग लाभांवित हो सकें। यह बात पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव ने रविवार को गेंडाजी धर्मशाला में आयोजित सर्व ब्राह्मण समाज संगठन के युवक-युवती परिचय सम्मेलन एवं विप्र वैवाहिक पुस्तिका विमोचन के मौके पर बतौर मुख्य अतिथि कही। कार्यक्रम के संयोजक एवं संगठन के प्रवक्ता अनिल दुबे ने बताया कि इस मौके पर 40 युवतियों एवं 89 युवकों ने परिचय दिया। इसके साथ ही करीब 100 अभिभावकों ने अपने पुत्र-पुत्रियों के विवाह के लिए भी मंच से परिचय दिया।

निशुल्क बांटी पुस्तिकाएं, उत्तर प्रदेश से भी आए लोग : कार्यक्रम में विप्र-वैवाहिक पुस्तिका का विमोचन हुआ। संगठन द्वारा मौके पर मौजूद लोगों को निशुल्क विप्र वैवाहिक पुस्तिका वितरित की गईं। इसमें युवक-युवतियों की संपूर्ण जानकारी के साथ बायोडाटा दिए गए हैं। परिचय सम्मेलन में सागर जिला सहित विदिशा, दमोह, ललितपुर, झांसी, महरौनी आदि उत्तरप्रदेश के विप्रजनों ने सहभागिता की। इस मौके पर ओपी दुबे, मोहन तिवारी, लक्ष्मीनारायण सोनकिया, डाॅ. अंकलेश्वर दुबे, राकेश चौबे, श्यामजी दुबे, प्रभात चौबे, पवन गर्ग, रामकृष्ण गर्ग, अनुराग प्यासी, रवींद्र अवस्थी, गिरीशकांत तिवारी, विश्वविद्यालय से डॉ. आशुतोष मिश्रा एवं डॉ. आरके पांडे, श्रीराम शर्मा, चैतन्य पांडे, सारांश दुबे, अजय मिश्रा, अनुराग तिवारी, अभिषेक गौतम, गोलू मिश्रा, राहुल मिश्रा, सुरेंद्र रिछारिया, अभिनव मिश्रा, सौरभ देव पांडेय अनुराग पाठक, यशोवर्धन चौबे, संदीप कटारे, लीला शर्मा, पार्षद किरण मिश्र एवं अनामिका चौबे, ज्योति तिवारी, साधना दुबे, सुमन दुबे, तोसू पांडेय, सोलू मिश्रा, अभिषेक चौबे सहित समाज के लोगमौजूद थे।

इन्होंने दिया मंच से परिचय

अपर्णा दुबे ग्वारी घाट जबलपुर, पूजा मुखिया उज्जैन, सावित्री पाठक देवरी, वर्षा शर्मा सिलवानी, अंजनी चौबे सोनभद्र उत्तरप्रदेश, सोनम रिछारिया कुरवाई सहित सागर की युवतियों ने परिचय दिया। वहीं युवकों में दीपक ब्रम्हकुरिया सहजपुर, सौरभ जारोलिया झांसी, विमल दीक्षित महरोनी, सतीश व्यास शाहगढ़, ब्रजेश सिरोठिया ललितपुर, रविशंकर लिटौरिया खुरई, सचिन शर्मा सिलवानी, शालिकराम दुबे दमोह आदि ने मंच से अपना परिचय दिया।