• Hindi News
  • सिंहस्थ की सफलता के लिए देव स्थापन से शुरू शिव शक्ति यज्ञ

सिंहस्थ की सफलता के लिए देव स्थापन से शुरू शिव-शक्ति यज्ञ

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रसाद में 250 किलो मावाबाटी-हलवा
उज्जैन | सिंहस्थ की सफलता व जनकल्याण की भावना से महाकाल मंदिर के पुजारी प्रदीप गुरु द्वारा पिपलीनाका गुमानदेव हनुमान मंदिर के पास मैदान में करवाए जा रहे शिव-शक्ति यज्ञ का शुभारंभ रविवार को देव स्थापना के साथ किया गया। आचार्य पं. निर्मल जोशी ने बताया गणपति नित्यार्चन, वास्तु मंडल पूजन, महाकाली, महालक्ष्मी, महासरस्वती, क्षेत्रपाल, नवग्रह, हरिहरात्मक द्वादशा: लिंगतो भद्र मंडल, गौरी तिलक मंडल, रुद्र स्थापन के साथ हवन किया व यज्ञ के समापन में दोपहर 2 बजे यज्ञ देव की आरती की गई।

पं. शास्त्री ने बताया भागवत महत्व: यज्ञ के बाद दोपहर 3 बजे पांडाल में पं. हरिनारायण शास्त्री की भागवत आरंभ हुई। महाराज ने भागवत महत्व में कहा इसके श्रावण से पाप नष्ट होते हैं और पुण्य मिलता है। शाम 6 बजे अारती हुई।

गुमानदेव हनुमान मंदिर में चल रहे महायज्ञ में आहूति देते पंडित और यजमान।

यज्ञ और भागवत में उमड़े हजारों भक्तों को आयोजन समिति ने 250 किलो मावाबाटी व हलवे की महाप्रसादी वितरित की। आयोजन में भोजन व प्रसादी बनाने के लिए इंदौर से हलवाई बुलवाए गए हैं।