पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • एसपी ने बुजुर्गों से कहा: आज से अपनी सारी समस्याएं इस खाकी वर्दी वाले बेटे को सौंप दें

एसपी ने बुजुर्गों से कहा: आज से अपनी सारी समस्याएं इस खाकी वर्दी वाले बेटे को सौंप दें

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
यह समस्याएं भी गिनाई
अगले महीने फिर मिलने का वादा किया

भास्कर संवाददाता | उज्जैन

अपने बुजुर्गों की कद्र किया करो ऐ खुदा के बंदों, मुसीबत में मां-बाप बच्चों के आगे अड़ जाते हैं....। सोमवार से बुजुर्गों के लिए वृद्ध मित्र संबल योजना कुछ इसी तर्ज पर शुरू हुई। पुलिस लाइन मैदान में जिले भर से आए बुजुर्गों से सीधा संवाद करते हुए जब एसपी एमएस वर्मा ने पूछा कि क्या आप लोग इस खाकी वर्दी वाले बेटे को अपनाओगे तो उनकी आंखों में आंसू उमड़ पड़े। इतना अपनापन तो शायद अपनों ने नहीं दिया। वरना आज वे यहां नहीं आते।

एसपी ने कहा कि आप नहीं होते तो हम नहीं होते। पहले संयुक्त परिवार हुआ करते थे। घर में बाबा, दादी, चाचा, चाची, भाई, भाभी, बेटे, बहुएं, नाती पोते साथ मिलकर रहते थे। सभी एक दूसरे के सुख दुख में भागीदार रहते थे। लोग दूर नौकरी नहीं करने जाते थे। लेकिन अब समय बदल गया है। बेटियां शादी के बाद अपने घरों को चली जाती हैं। बेटे विदेश में नौकरी कर रहे हैं। यहां घर पर मां-बाप अकेले हैं। एसपी ने बुजुर्गों से पूछा कि क्या ऐसे में इच्छा नहीं होती कि इस उम्र में कोई हमारा मित्र होता। जबाव मिला, हां।

एसपी ने कहा कि अब आप चिंता छोड़ दीजिए। खुद की ओर इशारा करते हुए कहा कि इस खाकी वाले को क्या आप लोग अपने बेटे-बेटी के रूप में नहीं अपनाओगे। इतना सुनते ही पांडाल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। उन्होंने कहा कि आज से यह पुलिस ही आपकी बेटी-बेटा है।

2 चिटफंड कंपनी वाले ने बेवकूफ बनाकर लाखों रुपए हड़प लिए।

3 गरीबी के कारण मंहगे इलाज करा पाना संभव नहीं हो पा रहा है।

4 बुढ़ापे में खानपान संयमित रखो लेकिन कोई न कोई बीमारी घेर लेती है।

1 वृद्धावस्था और विधवा पेंशन नहीं मिलती।

जैनब बी उर्फ सुशीला बाई कौमी एकता की मिसाल
पांडयाखेड़ी की 70 साल की जैनब बी उर्फ सुशीला बाई की तारीफ करते हुए एसपी ने कहा कि ये कौमी एकता की मिसाल हैं। जैनब बी ने बताया कि उन्होंने शादी नहीं की है। मुस्लिम परिवार के बच्चों को कुरान शरीफ पढ़ाती हैं। हिन्दुओं के बच्चों को गीता। कुरान की आयतें और गीता के श्लोक उनकी जुबान पर है। सखीपुरा रंगबावड़ी निवासी शांतिलाल सक्सेना 85 साल के हैं। उन्होंने बताया कि अकेले हाेने के कारण गरीब बच्चों को अपने साथ रखते हैं।

बुजुर्गों ने एसपी को

सुझाव भी दिए
स्वास्थ्य कैंप भी लगे ताकि सस्ता इलाज संभव हो सके। ब्रजमोहन शर्मा

कुछ ऐसी व्यवस्था हो जिससे बुजुर्ग लोग महाकाल मंदिर में आसानी से प्रवेश पा सकें। रामकिशोर यादव

एक आईडी कार्ड बने जिसे देखने के बाद किसी भी अस्पताल में डॉक्टर उन्हें प्राथमिकता दें मनमोहन सक्सेना

एक हफ्ते में टीआई ने दिलाया ट्रांसफार्मर
माधव नगर थाना क्षेत्र में रहने वाले आरसी जैन ने बताया उनका ट्रांसफार्मर चार साल से नहीं मिल रहा था। कंपनी के पास दौड़-दौड़ कर थक चुका था। समस्या टीआई एमएस परमार को बताई। उन्होंने एक हफ्ते में ट्रांसफार्मर दिला दिया। जैन ने कहा मेरे मन में पुलिस का नकारात्मक छवि थी लेकिन जब से ट्रांसफार्मर मिला सोच बदल गई। एसपी ने टीआई परमार, आरक्षक राकेश चौधरी और संतोष राव को पांच हजार के नकद इनाम से पुरस्कृत करने की घोषणा की।

बुजुर्गों से एसपी इस तरह मिले और परेशानी दूर करने का भरोसा दिलाया। दूसरे चित्र में बुजुर्गों को हाथ पकड़कर लाता जवान।

हर माह मिलेंगे, दूर करेंगे परेशानियां
एसपी ने कहा कि आज से यह हमारा परिवार है। सभी एक परिवार के सदस्य की तरह हैं। एक-दूसरे की परेशानियों को दूर करने के लिए हर महीने इसी तरह का सम्मेलन होगा। आने वाले सम्मेलन में अन्य विभागों के अधिकारियों से समन्वय करते हुए उन्हें भी बुलाया जाएगा। ताकि यहीं पर समस्याओं का निराकरण किया जा सके।

खबरें और भी हैं...