• Hindi News
  • National
  • नारियल सस्ता, गए साल 2800 इस साल 2400 रुपए बोरी

नारियल सस्ता, गए साल 2800 इस साल 2400 रुपए बोरी

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गए साल से सस्ता होली का नारियल बिक्री में आगे चल रहा है। होली पर्व की बाजार में ग्राहकी जोरदार चल रही है। तमिलनाडू और वेलूर का नारियल अच्छी क्वालिटी का होल सेल में नया पानी वाला 2350, जूना पानी 2400 रुपए में 200 भर्ती वाला बिक रहा है। उज्जैन में 2-3 गाड़ी नारियल की रोज आने लगी है। इंदौर तरफ का नारियल सस्ता होकर बिकता है। इसके भाव 1700 से 1800 रुपए के बताए गए हैं। क्वालिटी में हल्का होने से इस बार अच्छी क्वालिटी का नारियल ही खरीदा जा रहा है। खोटा नारियल बिक्री से बाहर हो गया। गौरव ट्रेडर्स के हरि दिसावल ने भास्कर को बताया होली पर नारियल बिक्री पर जोर अिधक रहता आया है। तमिलनाडु नारियल का बड़ा उत्पादक प्रदेश होने से देशभर में नारियल पहुंचता है। इस बार मौसम ने अच्छा साथ दिया तो आवक भी बेहतर हो गई। भाव भी खासे सस्ते हो गए। गत वर्ष 2800 से 2900 रुपए के भाव चल रहे थे। इस साल 400 रुपए प्रति बोरी भाव कम हो गए।

डालर 1000 रुपए घटा, विदेशी मांग जीरो

डालर चना 1000 रुपए घट गया। विदेश की डिमांड जीरो होने से दलालों ने छपे कट्‌टे भी नहीं भेजे। डालर कंटेनर में पहले 11800 रुपए िक्वंटल के भाव पर सौदे खड़े थे। अब 10800 रुपए के भाव पर सौदे फिसले हुए चल रहे हैं। 200 से 300 रुपए भाव घटने की स्थिति भी बताई जाने लगी है। फॉरेन में कंटेनर नाममात्र के पहुंचने से आगे भी उम्मीद भाव की कमजोर बताई जा रही है।

बगैर बिल के व्यापार का चलन

नोटबंदी के बाद व्यापार अत्यंत धीमा हो गया। कृषि उपज मंडियों में गेहूं चने की बंपर आवक हो रही। उपज का भुगतान बैंक में जमा होने से शहरी व्यापार जीरो हो गया और गांव-गांव में व्यापार चल निकला। कैशलेस मंडी होने से टेक्स भी बढ़ गया। बगैर बिल का व्यापार अब चल निकला है। सोयाबीन में 60 से 70 रुपए टेक्स लगता है। बिल खरीदकर मंडी से छुट प्राप्त करने में 30 से 35 रुपए का खर्च आता है। कैशलेस के बाद यह बड़ा काम खासा चल निकला है। उपज के बिल के बदले टेक्स में छुट देना भी लाजिमी है। गाड़ी लोडकर गंतव्य से काबज वापस होकर बिल में सम्मिलित हो जाने की खबर है। डीओसी और तेल बिल में जाने से डबल लाभ का व्यापार बताया गया है। मंडी बोर्ड का अमला इस प्रकार की जांच की फिराक में लंबे समय से है लेकिन खुलासा नहीं हो रहा।

संतरे, अंगूर में मांग बढ़ी, मंडी में बंपर आवक

चिमनगंज की बड़ी फल मंडी संतरे और अंगूर की आवक से फुल रही। बड़े खरीदार शहर बाहर से भी आ गए। संतरे की बंपर आवक में भाव भी ऊंचे बने रहे। अंगूर का सीजन पूरे माह चलने की संभावना बढ़ती जा रही है। आम भी इस साल खासा बिकेगा। दक्षिण राज्यों से मीठा आम खूब आ रहा है। व्यापारी वर्ग भी फुल तैयारी में लग गए हैं। वैसे शहर भर में फलों का व्यापार लाखों रुपए का हो जाता है। मंडी में होने वाले व्यापार पर टेक्स वसूला जाता है। बाहरी क्षेत्र में कुछ नहीं होता। दौलतगंज, दूधतलाई, फ्रीगंज जैसे बाजारों से मंडी वाले टेक्स वसूलते हैं लेकिन फलों के चलते व्यापार पर टेक्स जीरो बताया जाता है।

उज्जैन लोहा बाजार | टेस्टेड सरिया 3400 रुपए प्रति िक्वंटल। खली के भाव| उज्जैन खली 1400 प्रति 60 किलो, कपास्या 2300 से 2350 रुपए प्रति 100 किलो। खली खामगांव 2400 से 2600 रुपए प्रति 100 किलो। उज्जैन मावा : 160 रुपए प्रति किलो।

खबरें और भी हैं...