पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • मंडियों में प्याज का सड़ना आफत बना, जांच शुरू

मंडियों में प्याज का सड़ना आफत बना, जांच शुरू

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
उज्जैन | मप्र की अधिकतर कृषि उपज मंडियों को प्याज खरीदी केंद्र बनाकर समर्थन मूल्य 8 रुपए किलो से रिकार्ड खरीदी की गई। किसान भी खुश हो गए। प्याज की बिक्री और प्याज का सड़ना आफत का कारण बन गया। शाजापुर में कार्रवाई के बाद अनेक मंडियों में प्याज खरीदी-बिक्री की जांच शुरू हो गई। सूत्रों के मानें तो कृषि उपज मंडियों में सहयोग किया आैर इसका रखरखाव तथा चौकीदारी भी की गई, लेकिन बेचना-खरीदना तो विपणन संघ और नागरिक आपूर्ति ने किया। अब प्याज सड़ने लगा तो इसे फिकवाने का काम शुरू हो गया। नागदा मंडी के व्यापारियों ने सड़े प्याज को हटाने के लिए कहा तो मंडी बंद कर इसे हटाया जा रहा है। शाजापुर मंडी में प्याज के हिसाब किताब के चलते मंडी बंद चल रही है।

खबरें और भी हैं...