• Hindi News
  • 50 Persons Will Be Awarded Jeevan Raksha Medal

जीवन रक्षा पदक से 50 लोग होंगे सम्मानित

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली. राष्ट्रपति ने 2012 के लिए 50 लोगों को जीवन रक्षा पदक से सम्मानित करने को मंजूरी दे दी है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सोमवार को एक बयान में बताया कि सर्वोत्तम जीवन रक्षा पदक तीन लोगों को दिया जाएगा। इनमें केरल की पीके विनीता, रम्या राजप्पन और उत्तराखंड की संगीता अग्रवाल शामिल हैं। तीनों को मरणोपरांत सर्वोत्तम जीवन रक्षा पदक से सम्मानित किया जाएगा।
बयान में कहा गया कि 10 लोगों को उत्तम जीवन रक्षा पदक से सम्मानित किया जाएगा। इनमें मध्य प्रदेश के राहुल केवट, महाराष्ट्र के शिवम राजेंद्र पांडे (मरणोपरांत), मिजोरम के सी. थंथुआमा (मरणोपरांत), मिजोरम के ही लियनकांगलोवा, आंध्र प्रदेश के रमेश कोमपल्ली बाबू, उत्तर प्रदेश की लवली वर्मा (मरणोपरांत), मणिपुर के क्षेत्रीमेम राकेश सिंह, केरल के मोहम्मद निषाद वीपी, झारखंड की प्रसन्नता शांडिल्य खुशी, गुजरात की मित्तल महेंद्रभाई पटादिया शामिल हैं। जीवन रक्षा पदक उन लोगों को दिए जाते हैं जिन्होंने किसी की जान बचाने में उत्कृष्ट मानवीयता का परिचय दिया हो। पुरस्कार स्वरूप मेडल और प्रमाण पत्र दिया जाता है। इसके अलावा सर्वोत्तम जीवन रक्षा पदक पाने वाले को एक लाख नकद, उत्तम जीवन रक्षा पदक पाने वाले को 60 हजार और जीवन रक्षा पदक पाने वाले को 40 हजार रुपये दिए जाते हैं।
जीवनरक्षा पदक पाने वालों में केरल के सुरेश कुमार सीएस (मरणोपरांत) और जिश्नू वी नायर, मध्य प्रदेश के प्रदीप राय और प्रदीप सिंघारे, महाराष्ट्र के शाहिद इस्माइल इनामदार, आनंद ईश्वर माने, श्रीकांत शामराव माने और नितिन विलास कोरे, मिजोरम के लालरामछना, लालछुआनलियाना, लालरिनजुआली और केटी चुंगनुंग, राजस्थान के निसार खान, केरल के अजी चेरिप्पनट्टू कोच्चू, दिल्ली के कार्तिक उप्पल, पंजाब के शामराज किशोर, जम्मू-कश्मीर के नरेंद्र सिंह, मणिपुर के टी देवजीत शर्मा, पश्चिम बंगाल की सौधिता बर्मन मरणोपरांत शामिल हैं। इनके अलावा तमिलनाडु के जी. परमेश्वरन, कर्नाटक के एसएस मधू, मणिपुर के जॉन्सन टोरंगबम, आंध्र प्रदेश के यंदम अमारा उदय किरण, मणिपुर के पी. बोरिश शर्मा, छत्तीसगढ़ के दुर्गेश सिंह, देवाशीष पांडे, रंजन प्रधान, शुभम कुमार तिवारी, अंजली सिंह गौतम, राजू धु्रव और विपिन पटेल, केरल के अंशिफ सीके, आंध्र प्रदेश के सुथरापू शिव प्रसाद, अरुणाचल प्रदेश के आदित्य गोपाल (मरणोपरांत), हरियाणा के परमजीत, केरल के सहसद के. और राजस्थान के डूंगर सिंह शामिल हैं।