पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

त्रिपुरा में भारत माता के जयकारों के बीच गिराई गई लेनिन की मूर्ति, सीपीएम के दफ्तरों में तोड़फोड़

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
Advertisement
Advertisement

अगरतला.  रूसी क्रांति के नायक रहे व्लादिमीर लेनिन की साउथ त्रिपुरा जिले में दो दिन में दूसरी मूर्ति तोड़ दी गई। दूसरी घटना मंगलवार को जिले के सबरूम टाउन में मोटर स्टैंड के पास हुई। इससे पहले साेमवार को जिले के बेलोनिया सबडिवीजन में लेनिन की प्रतिमा तोड़ी गई थी। वाम दलों ने इस तोड़फोड़ का आरोप बीजेपी वर्कर्स पर लगाया है। पहली प्रतिमा तोड़े जाने के दौरान भारत माता की जय के नारे लगाए गए थे। इस बीच, त्रिपुरा में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीएम) के कई दफ्तरों में तोड़फोड़ की गई है। राज्य में हिंसा की खबरों के बाद केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने गवर्नर तथागत रॉय और डीजीपी एके शुक्ला से सरकार बनने तक हालात पर नजर रखने को कहा है।

 

सीपीएम ने जताई नाराजगी
- साउथ त्रिपुरा डिस्ट्रिक्ट के बेलोनिया सबडिवीजन में लगी लेनिन की मूर्ति को जेसीबी से गिरा गया। यहां ये मूर्ति पांच साल पहले लगाई गई थी। 
- पुलिस के मुताबिक, जेसीबी के ड्राइवर को अरेस्ट कर लिया गया। वह नशे में था। इस घटना पर लेफ्ट ने नाराजगी जाहिर की। 

 

त्रिपुरा में कई जगह तोड़फोड़
- बीजेपी की जीत के बाद राज्य में सीपीएम दफ्तरों समेत कई जगह तोड़फोड़ की गई।
- सीपीएम ने इसके लिए बीजेपी और उसकी सहयोगी आईपीएफटी कार्यकर्ताओं पर आरोप लगाया। उनका कहना है कि सीपीएम के कार्यकर्ताओं के घरों को भी निशाना बनाया जा रहा है। 
- बीजेपी का कहना है कि यह सीपीएम के खिलाफ लोगों का गुस्सा है। 

 

जनता जवाब देगी: अनंत कुमार

- त्रिपुरा में हिंसा के सवाल पर केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने मीडिया से कहा, "त्रिपुरा में मार्क्सवादियों ने हमारे 9 कार्यकर्ताओं को मार दिया। कर्नाटक में कांग्रेस के कुशासन के चलते बीजेपी के 24 कार्यकर्ता मारे गए। आने वाले चुनावों जनता इसका मुंहतोड़ जवाब देगी।"

 

लोकतंत्र में यह मंजूर नहीं: डी राजा

- सीपीआई लीडर डी राजा ने कहा, "मैं इस हिंसा का पुरजोर विरोध करता हूं। लोकतंत्र में यह मंजूर नहीं है। हम कई पार्टियों वाले लोकतंत्र हैं। इसमें कुछ पार्टियां जीतती हैं तो कुछ हारती हैं। इसका मतलब यह नहीं कि वे तोड़फोड़ और हिंसा करें। जैसा कि लेनिन की मूर्ति का गिराया गया।"

 

हिंसा ही उनका राजनीतिक भविष्य है: सीताराम येचुरी

- सीपीआई लीडर सीताराम येचुरी ने कहा, "त्रिपुरा में जो हिंसा हो रही है ये स्पष्ट करती है कि आरएसएस-बीजेपी का रुझान क्या है। हिंसा के अलावा उनका कोई राजनीतिक भविष्य नहीं है। त्रिपुरा की जनता इसका जवाब देगी।"

 

सरकार बनने से बीजेपी-आईपीएफटी में दरार

- त्रिपुरा में भाजपा की गठबंधन सहयोगी स्थानीय पार्टी इंडिजिनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (आईपीएफटी) ने भाजपा से स्थानीय मुख्यमंत्री बनाने की मांग की है।

- उसने कहा है कि अगर सरकार में उसे सम्मानजनक स्थान नहीं मिला तो वह बाहर से समर्थन देगी।

- राज्य की कुल 60 सीटों में से 59 पर हुए चुनाव में भाजपा ने 35 और सहयोगी आईपीएफटी ने 8 सीटें, जीती हैं।

 

 

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज पिछले समय से आ रही कुछ पुरानी समस्याओं का निवारण होने से अपने आपको बहुत तनावमुक्त महसूस करेंगे। तथा नजदीकी रिश्तेदार व मित्रों के साथ सुखद समय व्यतीत होगा। घर के रखरखाव संबंधी योजनाओं पर भ...

और पढ़ें

Advertisement