आजाद हिंद फौज से आखिरी सिपाही का निधन, नेताजी को देते थे सीक्रेट इन्फॉर्मेशन / आजाद हिंद फौज से आखिरी सिपाही का निधन, नेताजी को देते थे सीक्रेट इन्फॉर्मेशन

काले का जन्म 1920 में कोल्हापुर के एक गांव में हुआ था। वे फौज के सीक्रेट सर्विस ग्रुप के मेंबर थे।

Oct 15, 2016, 03:54 PM IST
डेनियल काले का 95 साल की उम्र में कोल्हापुर में निधन हुआ। -फाइल डेनियल काले का 95 साल की उम्र में कोल्हापुर में निधन हुआ। -फाइल
मुंबई. आजाद हिंद फौज के आखिरी सिपाही डेनियन काले का कोल्हापुर में निधन हो गया। 95 साल के काले की तबीयत पिछले कुछ दिन से ठीक नहीं थी। उन्हें एक सरकारी हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था। जहां शुक्रवार को उन्होंने आखिरी सांस ली। 1942 में वह रासबिहारी बोस की इंडिपेंडेंस लीग से जुड़े थे, बाद में लीग नेताजी सुभाषचंद्र बोस की फौज में शामिल हो गई। काले इंडो-वर्मा (म्यांमार) सीमा पर तैनात थे और इंटेलिजेंस इनपुट नेताजी और फौज के बड़े अफसरों तक पहुंचाते थे। आजादी के बाद गांव लौटे थे काले...
- आखिरी दिनों में काले की देखभाल कर रहे अशोक रोकड़े ने बताया कि पैतृक गांव कदमवाड़ी में उनका अंतिम संस्कार किया गया।
- काले का जन्म 1920 में कोल्हापुर के एक गांव में हुआ था। उन्हें फौज का आखिरी सिपाही माना जाता था। वे सीक्रेट सर्विस ग्रुप के मेंबर थे।
- फौज की हार और 1947 में भारत की आजादी के बाद काले वापस अपने गांव में आकर पत्नी के साथ रहने लगे थे।
- दस साल पहले पत्नी श्यामला की मौत के बाद काले की तबीयत खराब रहने लगी थी।
- रोकड़े ने बताया कि वह एक अमन पसंद शख्स थे। लोगों को फौज के रोचक किस्से भी सुनाते थे।
वे इंडो-वर्मा बॉर्डर पर तैनात थे और सीक्रेट इन्फॉर्मेशन फौज के अफसरों को देते थे। -फाइल वे इंडो-वर्मा बॉर्डर पर तैनात थे और सीक्रेट इन्फॉर्मेशन फौज के अफसरों को देते थे। -फाइल
X
डेनियल काले का 95 साल की उम्र में कोल्हापुर में निधन हुआ। -फाइलडेनियल काले का 95 साल की उम्र में कोल्हापुर में निधन हुआ। -फाइल
वे इंडो-वर्मा बॉर्डर पर तैनात थे और सीक्रेट इन्फॉर्मेशन फौज के अफसरों को देते थे। -फाइलवे इंडो-वर्मा बॉर्डर पर तैनात थे और सीक्रेट इन्फॉर्मेशन फौज के अफसरों को देते थे। -फाइल
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना