बेटी की इज्जत से बढ़कर है वोट, बिक गया तो सपना अधूरा रह जाएगा: शरद यादव

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पटना.   जेडीयू के पूर्व नेशनल प्रेसिडेंट शरद यादव ने कहा, "बेटी की इज्जत से वोट की इज्जत बड़ी है।" यादव ने ये बयान यहां लोगों के बीच दिया। इस पर विवाद होने पर बाद में सफाई दी। कहा, "वोट और बेटी के लिए मोहब्बत एक सी होनी चाहिए।" यादव ने एक प्रोग्राम में राजनीति के गिरते स्तर और पैसे-वोट के गठजोड़ पर चिंता जताते हुए विवादित बयान दिया। NCW (राष्ट्रीय महिला आयोग) ने इस बयान पर उनको नोटिस जारी किया है। आजकल वोट को खरीदा और बेचा जाता है...
 
 
- एएनआई न्यूज एजेंसी ने बुधवार को एक वीडियो जारी किया है जिसमें शरद यादव यह बयान देते नजर आ रहे हैं। 
- यादव ने मंगलवार को एक प्रोग्राम में कहा, "बेटी की इज्जत जाएगी तो गांव-मोहल्लों की इज्जत जाएगी, वोट एक बार बिक गया तो देश की इज्जत चली जाएगा और सपना पूरा नहीं हो सकता।"
- "बैलट पेपर के बारे में बड़े पैमाने पर सब जगह समझाने की जरूरत है कि बेटी की इज्जत से वोट की इज्जत बड़ी है। पैसे की बदौलत आजकल वोट खरीदा और बेचा जाता है।"
- यादव के बयान पर ऑल इंडिया प्रोग्रेसिव वुमंस एसोसिएशन (AIPWA) की बिहार यूनिट की सेक्रेटरी शशि यादव ने कहा, "जेडीयू लीडर के कमेंट से महिलाओं को लेकर उनके पूर्वाग्रह का पता चलता है। इससे पुरुषों की अंध राष्ट्रभक्ति का भी पता चलता है।"
 
सांसद, विधायक बनने के लिए करोड़ों खर्च करने पड़ते हैं
- शरद यादव ने कहा, "आज किसी नेता को सांसद या विधायक बनने के लिए करोड़ों रुपए खर्च करने पड़ते हैं।" 
- "खासकर दक्षिण भारत में सांसद बनने के लिए 25 से 30 करोड़ रुपए खर्च किए जाते हैं, जबकि विधायक बनने की कीमत 5 से 10 करोड़ रुपए है।"
- यादव ने इस पर चिंता जताई कि पैसे की कमी की वजह से उनकी पार्टी यूपी में चुनाव नहीं लड़ पा रही है। 
 
ऐसे हालात पहले सामने नहीं आए
- जेडीयू लीडर ने कहा, "मैंने लंबे वक्त तक पार्टी को चलाया है, लेकिन ऐसे हालात पहले कभी सामने नहीं आए।"
- "संसाधन की कमी की वजह से आज चुनाव लड़ने में दिक्कत आ रही है, वोटों की खरीद-फरोख्त चल रही है।"
 
कांग्रेस की स्थिति इमरजेंसी से भी खराब
- शरद यादव ने प्रोग्राम के दौरान कांग्रेस और सपा पर भी निशाना साधा।
- कहा- "देश की नंबर एक कांग्रेस पार्टी की स्थिति आज आपातकाल के समय से भी खराब है।" 
- यादव ने मुलायम सिंह का नाम लिए बगैर कहा, "हम लोगों ने महागठबंधन के लिए क्या-क्या नहीं किया, पूरी जिम्मेदारी उन्हें दी, लेकिन बात नहीं बनी। लेकिन इसके बाद भी हम लोग प्रयास नहीं छोड़ेंगे।"
 
शरद यादव पहले भी दे चुके हैं विवादित बयान
- "दक्षिण भारतीय महिलाएं सांवली तो होती हैं, लेकिन उनका शरीर खूबसूरत होता है।" (संसद में कहा था)
- "मैं जानता हूं कि आप क्‍या हैं।"  (बीजेपी लीडर स्मृति ईरानी ने दक्षिण भारतीय महिला...बयान पर एतराज जताया था, जिस पर शरद यादव ने उन पर ये टिप्पणी की थी)
- "भारतीय गोरी चमड़ी पर किस तरह लट्टू होते हैं, यह फिल्म निर्माता ब्रिटिश लेस्ली उडविन को देखकर पता चलता है, जिन्होंने निर्भया पर डॉक्युमेंट्री बनाई है।" (संसद में कहा था)
- "क्या इस विधेयक के जरिए आप परकटी महिलाओं को सदन में लाना चाहते हैं?" (महिला आरक्षण विधेयक पहली बार संसद में रखे जाने पर कहा था)
- "पद्म सम्मान केवल मक्कार, बेईमान और बड़े लोगों को ही दिए जाते हैं।" 
 
खबरें और भी हैं...