सियाचिन में शहीद 9 जवानों के शव आज पहुंचेंगे दिल्ली, आर्मी चीफ देंगे श्रद्धांजलि

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली. सियाचिन के एवलांच में शहीद मद्रास रेजिमेंट के 9 जवानों के पार्थिव शरीर 12 दिन बाद सोमवार को दिल्ली लाए गए। आर्मी चीफ दलबीर सिंह सुहाग ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद इन्हें अंतिम संस्कार के लिए स्पेशल प्लेन से पैतृक जगहों पर भेजा गया। मंगलवार को शहीदों को आखिरी विदाई दी जाएगी। बता दें कि खराब मौसम की वजह से शहीद जवानों के शवों को लाने में देरी हुई। इन्हें लेह बेस कैम्प में रखा गया था। एवलांच के 6 दिन बाद बर्फ से जिंदा निकले थे शहीद हनुमनथप्पा...
- अरविंद केजरीवाल भी पालम एयरपोर्ट पहुंचे। उन्होंने कहा, ''हमें अपने सैनिकों पर नाज है। भगवान से उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करता हूं।''
- 3 फरवरी को एवलांच की वजह से सियाचिन में तैनात कुल 10 जवान शहीद हो गए थे।
- शहीद लांस नायक हनुमनथप्पा कोपड़ जिंदा बचे थे, लेकिन हॉस्पिटल में इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया था।
- जिन 9 शहीदों की पार्थिव देह दिल्ली लाई गई है, उनमें तमिलनाडु के चार, कर्नाटक के दो, आंध्र प्रदेश, केरल और महाराष्ट्र का एक-एक जवान शामिल है।
कहां से कौन-कौन शहीद?
- तमिलनाडु- हवलदार इलुमलाई एम, हवलदार एस. कुमार, सिपाही गणेशन जी, सिपाही राममूर्ति एन।
- कर्नाटक- सिपाही महेशा पीएन, सूबेदार नागेश टीटी। लांस नायक हनुमनथप्पा कोपड़ का अंतिम संस्कार हो चुका है।
- आंध्र प्रदेश- सिपाही एस. मुश्ताक अहमद।
- केरल- लांस नायक सुधीश बी।
- महाराष्ट्र- सिपाही सूर्यवंशी एसवी (नर्सिंग असिस्टेंट)।
आगे की स्लाइड्स में देखें, जो एवलांच में शहीद हुए, देखें वीडियो...
खबरें और भी हैं...