पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • FICCI Said Trade Between UK India To Suffer Double Hit

ब्रिटिश PM का भारत दौरा आज से: एजेंडे में माल्या समेत 5 मुद्दे, FICCI ने कहा- ट्रेड में दोगुना नुकसान का खतरा

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली. ब्रिटेन की पीएम थेरेसा मे 3 दिन की अपनी पहली भारत विजिट पर रविवार को नई दिल्ली पहुंचेंगी। ब्रेग्जिट के बाद यूरोप के बाहर भी उनका यह पहला दौरा है। मे के साथ एक बड़ा बिजनेस डेलीगेशन भी होगा। दोनों पक्षों की बातचीत के एजेंडे में विजय माल्या के प्रत्यर्पण समेत 5 मुद्दे हो सकते हैं। इस बीच, फिक्की ने दोनों देशों के बायलैट्रल ट्रेड को लेकर वॉर्निंग दी है। कहा- 'ब्रेग्जिट के नतीजों और स्टर्लिंग में गिरावट के चलते दोनों देशों के बीच ट्रेड को दोगुना नुकसान होगा।' फिक्की ने और क्या कहा...
- फेडरेशन ऑफ इंडियन चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (FICCI) के सेक्रेटरी जनरल ए. दीदार सिंह ने कहा- 'ब्रेग्जिट वोटिंग से ब्रिटेन में चल रहे करीब 800 इंडियन बिजनेस का यूरोप की तरफ जाने का रास्ता खुल गया है।'
- 'ईयू भारत का सबसे बड़ा ट्रेडिंग पार्टनर है, ब्रिटेन से भारत को एक्सपोर्ट भी घट रहा है। स्टर्लिंग के नीचे जाने से भी ट्रेड पर असर पड़ रहा है।'
- 'अब भारत से ब्रिटेन को होने वाला एक्सपोर्ट भी घटेगा क्योंकि यूके की पाउंड की वैल्यू 18% गिर गई है।'
- 'इसलिए अगर मैं यूके को कुछ दे रहा हूं और बदले में मुझे भी थोड़ा ही मिल रहा है तो मुझे इस पर सोचना पड़ेगा। यह दोगुना नुकसान है।'
दौरे पर हावी रहेगा ईयू से अलग होने का फैसला
- फिक्की की यह भविष्यवाणी बाकी एनालिस्ट्स की राय जैसी ही है। जिन्होंने कहा है कि ब्रिटेन के ईयू से अलग होने का फैसला थेरेसा मे के भारत दौरे पर हावी रहेगा।
- बता दें कि ब्रिटिश पीएम की इस बायलैट्रल ट्रिप का मकसद दोनों देशों के इकोनॉमिक रिलेशन को बढ़ाना है।
क्या है एजेंडा?
1. विजय माल्या की वापसी पर जोर देगा भारत
- भारतीय बैंकों के 9000 करोड़ रुपए के कर्जदार हैं विजय माल्या। इन्हें कोर्ट ने भगोड़ा करार दिया है।
- माल्या इस साल 2 मार्च से ही लंदन में हैं। उनके खिलाफ कई गैर-जमानती वारंट जारी हो चुके हैं।
2. ब्रेक्जिट के बाद यूके में मौजूद करीब 800 कंपनियों की चिंता
- ब्रिटेन में टाटा-जैगुआर समेत करीब 800 भारतीय कंपनियां बिजनेस कर रही हैं।
- UK के EU से बाहर होने (ब्रेग्जिट) के बाद उन्हें कारोबार की चिंता है। भारत यह मुद्दा उठा सकता है।
3. इंडिया-यूके स्ट्रैटजिक पार्टनरशिप रिव्यू
- थेरेसा मे के दौरे का एक मकसद ब्रेग्जिट के बाद भारत-ब्रिटेन की स्ट्रैटजिक पार्टनरशिप के सभी पहलुओं का रिव्यू करना भी है।
4. फ्री ट्रेड एग्रीमेंट
- थेरेसा मे के इस दौरे में दिल्ली में एक टैक्नोलॉजी फोकस्ड ट्रेड समिट होगी।
- इसमें भारत-ब्रिटेन के बीच फ्री ट्रेड को लेकर कमिटमेंट जाहिर होगा।
5. स्मॉल बिजनेस पर फोकस
- ब्रेग्जिट के बाद अब फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्री, फूड मैन्यूफैक्चरिंग एंड डिस्ट्रीब्यूशन, टैक्नोलॉजी स्पेस, नीटेड और नॉन नीटेड कपड़े, मैकेनिकल इक्विपमेंट एंड मशीनरी, फूटवियर, मेडिसिन पर ज्यादा फोकस हो सकता है।
2020 तक 20 अरब डॉलर का होगा बायलैट्रल ट्रेड
- पीएचडी चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की तरफ से शनिवार को जारी बयान में कहा गया- 'भारत-ब्रिटेन का बायलैट्रल ट्रेड 2020 तक बढ़कर 20 अरब डॉलर पर पहुंच सकता है।'
- 'ब्रिटेन ने पिछले 16 साल में भारत में करीब 22 अरब डॉलर का डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट (एफडीआई) किया है। दोनों देशों के बीच फिलहाल 14.30 अरब डॉलर का ट्रेड है।'
मोदी के साथ मीटिंग से पहले क्या करेंगीं मे?
- रविवार देर शाम थेरेसा मे नई दिल्ली पहुंचेंगी। 8 नवंबर तक वे भारत में रहेंगी।
- नरेंद्र मोदी से मीटिंग से पहले वे इंडियन इंडस्ट्रियलिस्ट्स की एक कॉन्फ्रेंस को एड्रेस करेंगी।

दिवाली की बधाई देकर बनाया माहौल
- थेरेसा मे ने इस हफ्ते की शुरुआत में मोदी को फोन किया था।
- इस दौरान दोनों ने एक दूसरे को दिवाली की बधाई दी और बायलैट्रल रिलेशन को मजबूत करने पर चर्चा की।
- दोनों नेताओं ने साइंस एंड टैक्नोलॉजी, फाइनेंस, ट्रेड एंड इन्वेस्टमेंट, डिफेंस एंड सिक्युरिटी पर सहयोग बढ़ाने की बात की।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह स्थितियां बेहतरीन बनी हुई है। मानसिक शांति रहेगी। आप अपने आत्मविश्वास और मनोबल के सहारे किसी विशेष लक्ष्य को प्राप्त करने में समर्थ रहेंगे। किसी प्रभावशाली व्यक्ति से मुलाकात भी आपकी ...

और पढ़ें