राष्ट्रपति चुनाव: तारीख का एलान आज, 5 प्वाइंट में जानें NDA मजबूत क्यों / राष्ट्रपति चुनाव: तारीख का एलान आज, 5 प्वाइंट में जानें NDA मजबूत क्यों

DainikBhaskar.com

Jun 07, 2017, 03:11 PM IST

5 राज्यों के असेंबली इलेक्शन के बाद प्रेसिडेंट इलेक्शन के लिए एनडीए की पोजिशन मजबूत है।

इलेक्शन कमीशन ने राष्ट्रपति चुनाव की तारीखों का एलान किया। (फाइल) इलेक्शन कमीशन ने राष्ट्रपति चुनाव की तारीखों का एलान किया। (फाइल)
नई दिल्ली. इलेक्शन कमीशन ने बुधवार को राष्ट्रपति चुनाव के लिए तारीखों का एलान किया। चीफ इलेक्शन कमिश्नर नसीम जैदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया, ‘‘मौजूदा प्रेसिडेंट प्रणब मुखर्जी का टेन्योर 24 जुलाई को खत्म हो रहा है। उससे पहले जरूरत पड़ने पर 17 जुलाई को वोटिंग होगी और 20 जुलाई को काउंटिंग होगी। राष्ट्रपति चुनाव के लिए सीक्रेट बैलेट वोटिंग होती है।’’ बता दें कि 5 राज्यों के असेंबली इलेक्शन के बाद प्रेसिडेंट इलेक्शन के लिए एनडीए की पोजिशन मजबूत है। एनडीए को अपनी पसंद का प्रेसिडेंट बनाने के लिए महज 20 हजार वोटों की जरूरत है। इसके लिए उसे उन गैर-एनडीए और गैर-यूपीए दलों की जरूरत है, जिन्होंने ये तय नहीं किया है कि वे किस तरफ जाएंगे। इनका वोट पर्सेंटेज करीब 13% है। यही वोट तय करेंगे कि अगला प्रेसिडेंट किसकी पसंद का होगा। आयोग ने और क्या कहा...
- चीफ इलेक्शन कमिश्नर ने कहा कि राजनीतिक दल अपने संसद सदस्यों और विधानसभा सदस्यों को राष्ट्रपति चुनाव के बारे में कोई भी व्हिप नहीं जारी कर सकते हैं। वोटों की गिनती दिल्ली में होगी। चुनाव आयोग ही प्रेसिडेंशियल इलेक्शन के विजेता का एलान करेगा।
- उन्होंने कहा कि राज्यसभा और विधानसभा की 13 सीटें खाली हैं। 10 राज्यसभा सीटों पर चुनाव का फैसला राष्ट्रपति चुनाव के बाद लिया जाएगा।
ऐसा है राष्ट्रपति चुनाव का शेड्यूल
चुनाव आयोग का नोटिफिकेशन: 14 जून
नॉमिनेशन दाखिल करने की आखिरी तारीख: 28 जून
नॉमिनेशन की स्क्रूटनी: 29 जून
नॉमिनेशन वापस लेने की आखिरी तारीख: 1 जुलाई
वोटिंग (जरूरत पड़ने पर): 17 जुलाई, सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे
काउंटिंग (जरूरत पड़ने पर): 20 जुलाई, सुबह 11 बजे से
# 4896... वोटर राष्ट्रपति चुनाव में हिस्सा ले सकेंगे। इनमें 4120 MLAs और 776 MPs शामिल हैं।
# 20... AAP के विधायकों के खिलाफ हाउस ऑफ प्रॉफिट के मामले में केस चल रहा है, लेकिन इलेक्शन कमीशन का कहना है कि आज की बात करें तो ये लोग वोट डाल सकेंगे।
# 12... नॉमिनेटेड राज्यसभा मेंबर्स भी वोट नहीं डाल सकेंगे। इसके अलावा लोकसभा में दो एंग्लो-इंडियन कम्युनिटी के नॉमिनेटेड मेंबर्स भी वोट नहीं डाल सकेंगे।
# 10... खाली सीटें हैं राज्यसभा की, जिनके लिए चुनाव की घोषणा राष्ट्रपति चुनाव के बाद ही की जाएगी।
अभी किसकी, क्या पोजिशन...
MP: एक सांसद के वोट की वैल्यू तब पता चलेगी जब आप विधायकों के कुल वोटों को सांसदों की कुल संख्या से भाग दें। इस फॉर्मूला के तहत अभी एक MP के वोट की वैल्यू 708 है।
MLA: राज्य की आबादी / (वहां के कुल विधायकों की संख्या * 1000)।
2# कितने वोट जरूरी
- किसी भी दल को अपनी पसंद का प्रेसिडेंट बनाने के लिए 50% यानी 5,49, 442 वोटों की जरूरत है।
टोटल MLAs टोटल MPs MLAs की वोट वैल्यू MPs की वोट वैल्यू टोटल वोट वैल्यू
4114 776 5,49.474 5,48,408 10,98,882
पिछली बार के नतीजे
कैंडिडेट कुल वोट कौन जीता, कितने वोट मिले
2 10,29,750 प्रणब मुखर्जी (7,13,763)
3# NDA के पास कितने वोट?
- लोकसभा, राज्यसभा, स्टेट असेंबली को मिलाकर टोटल 5,27,371 वोट होते हैं। एनडीए का टोटल वोट पर्सेंटेज 48.10 फीसदी है।
4# UPA के पास कितने वोट?
- साझा कैंडिडेट उतारने की स्थिति में सभी अपोजिशन पार्टियां एक हो जाती हैं तो टोटल वोट 5,68,148 होंगे यानी करीब 51.90%। ये पसंद का प्रेसिडेंट बनाने के लिए काफी हैं।
5# ये वोट तय करेंगे, किसकी पसंद का होगा अगला प्रेसिडेंट
- NDA की नजर AIADMK (5.36%), BJD (2.98%), TRS (1.99%), YSRCP (1.53) जैसी पार्टियों पर रहेगी। इन पार्टियों का सपोर्ट किसे जाएगा, अभी तय नहीं है। इनका टोटल वोट 13% के आसपास है। ऐसे में अगर कोई एक बड़ी पार्टी या दो पार्टियों का सपोर्ट मिल जाता है तो NDA अपनी पसंद का प्रेसिडेंट बना लेगी।
6# कैंडिडेट्स
NDA: अभी तक कैंडिडेट का एलान नहीं किया गया है। मोहन भागवत का नाम इस रेस में था, लेकिन अमित शाह और खुद भागवत ने इससे इनकार कर दिया। लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी पर बाबरी केस चल रहा है। लेकिन इसके बावजूद वे इलेक्शन में हिस्सा ले सकते हैं।
UPA: नाम अभी तय नहीं किया गया है। अपोजिशन लगातार इस बात पर जोर दे रहा है कि प्रेसिडेंट इलेक्शन के लिए साझा कैंडिडेट उतारा जाए। कहा जा रहा है कि बंगाल के पूर्व गवर्नर गोपालकृष्ण गांधी यूपीए के कैंडिडेट हो सकते हैं।
7# इलेक्टोरल कॉलेज से होता है राष्ट्रपति का चुनाव
- भारत के राष्ट्रपति को संसद के दोनों सदनों और राज्यों की विधानसभाओं के निर्वाचित सदस्य मिलकर चुनते हैं। सभी सांसदों और विधायकों के पास निश्चित संख्या में वोट हैं। हालांकि, हर निर्वाचित विधायक और सांसद के वोटों का मूल्य अलग-अलग होता है।
8# अस्थिर वोट और छोटे दल
- आम आदमी पार्टी, बीजू जनता दल, भारतीय राष्ट्रीय लोकदल, वाईएसआर कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और एआईएडीएमके ने अभी अपने पत्ते नहीं खोले हैं। इनका वोट प्रतिशत भी करीब 13 फीसदी है। यानी करीब 1.70 लाख वोट।
Election Commission To Announce President Of India Election Dates Today
Election Commission To Announce President Of India Election Dates Today
Election Commission To Announce President Of India Election Dates Today
Election Commission To Announce President Of India Election Dates Today
अपोजिशन ने अभी तक अपने प्रेसिडेंशियल कैंडिडेट का एलान नहीं किया है।    (फाइल) अपोजिशन ने अभी तक अपने प्रेसिडेंशियल कैंडिडेट का एलान नहीं किया है। (फाइल)
अगर पूरा विपक्ष एक हो जाता है तो उसकी पोजिशन NDA से बेहतर हो जाएगा।  (फाइल) अगर पूरा विपक्ष एक हो जाता है तो उसकी पोजिशन NDA से बेहतर हो जाएगा। (फाइल)
X
इलेक्शन कमीशन ने राष्ट्रपति चुनाव की तारीखों का एलान किया। (फाइल)इलेक्शन कमीशन ने राष्ट्रपति चुनाव की तारीखों का एलान किया। (फाइल)
Election Commission To Announce President Of India Election Dates Today
Election Commission To Announce President Of India Election Dates Today
Election Commission To Announce President Of India Election Dates Today
Election Commission To Announce President Of India Election Dates Today
अपोजिशन ने अभी तक अपने प्रेसिडेंशियल कैंडिडेट का एलान नहीं किया है।    (फाइल)अपोजिशन ने अभी तक अपने प्रेसिडेंशियल कैंडिडेट का एलान नहीं किया है। (फाइल)
अगर पूरा विपक्ष एक हो जाता है तो उसकी पोजिशन NDA से बेहतर हो जाएगा।  (फाइल)अगर पूरा विपक्ष एक हो जाता है तो उसकी पोजिशन NDA से बेहतर हो जाएगा। (फाइल)
COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543